guru dakshina

शिष्य ने इस तरह दी गुरु दक्षिणा, बन गया गुरुकुल का गुरु

प्राचीन काल की बात है। एक गुरु अपने आश्रम को लेकर बहुत चिंतित थे। वह महसूस कर रहे थे कि उनकी उम्र बढ़ती जा रही है। अपना शेष जीवन वह हिमालय में बिताना चाहते थे। चिंता इस बात को लेकर थी कि उनके बाद उनकी जगह कौन लेगा। वे तय नहीं कर पा रहे थे कि कौन सा शिष्य ऐसा है जो आश्रम को ठीक से संचालित करेगा। आश्रम में