attammissanbharat

माधवी के सामने कुछ मुश्किल नहीं..पढ़िए कैसे एक जाबांज महिला बनी सभी के लिए प्रेरणा !

8 महीने चला इलाज,फिर भी लोगों के लिए बनी प्रेरणा ! फरीदाबाद (प्रवीण शर्मा ) :- दिल में कुछ कर गुजरने की इच्छा हो तो इंसान असक्षम शरीर होने के बावजूद भी बहुत कुछ कर सकता है । ऐसी ही कहानी है जांबाज महिला माधवी हंस की जिसका जन्म 21 अप्रैल 1976 को हिसार में हुआ था बचपन से ही माधवी के बड़े सपने थे…  और वह आम आदमी की तरह स्वस्थ