Tech News Update: टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कैसे घर में चोरी से बचें, घर में लगाये सीसीटीवी कैमरे सहित ये डिवाइस

₹64.73
Tech News Update: टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कैसे घर में चोरी से बचें, घर में लगाये सीसीटीवी कैमरे सहित ये डिवाइस

Tech News Update: राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो यानी NCRB की रिपोर्ट के मुताबिक 2023 में भारत में प्रति 1 लाख लोगों पर औसतन 445.9 अपराध दर्ज हुए। इनमें चोरी सबसे आम अपराध था। इसके बाद डकैती और हमले के मामले थे। अपराधिक घटनाएं किसी एक व्यक्ति को प्रभावित नहीं करतीं, बल्कि पूरे समाज पर इसका असर पड़ता है। एक रिसर्च के मुताबिक भारत में हर 3 मिनट में एक चोरी, डकैती या सेंधमारी की घटना होती है। ऐसे में आप शहर में अकेले रहने वाले व्यक्ति हों या अपने परिवार के साथ रहते हों या फिर ऐसे व्यक्ति हों जो अक्सर यात्रा करते रहते हैं। आपके लिए बेहद जरूरी है कि घर की सुरक्षा के लिए कुछ आवश्यक कदम उठाएं। जिससे घर को चोरी, डकैती से बचाया जा सके।

इसलिए आज जरूरत की खबर में बात करेंगे कि हम अपने घर की सुरक्षा कैसे कर सकते हैं। साथ ही जानेंगे कि-

घर की सुरक्षा के लिए टेक्नोलॉजी का कैसे इस्तेमाल कर सकते है?
घर में चोरी न हो, इसके लिए किस तरह की सावधानियां बरतें?
छुट्टी पर बाहर जाने से पहले क्या गलतियां न करें?

सवाल- चोरी, डकैती या सेंधमारी की घटनाओं से अपने घर को कैसे बचाया जा सकता है?

जवाब- अपने घर को चोरी या सेंधमारी से बचाने के लिए कुछ तरीके अपना सकते हैं। जैसेकि-

घर के सभी एंट्री पॉइंट्स को सुरक्षित करें

सबसे जरूरी तरीकों में से एक है घर के सबसे एंट्री पॉइंट्स जैसे दरवाजे और खिड़कियों को सुरक्षित करें। आजकल स्लाइडिंग बालकनी का भी खूब चलन है। अक्सर लोग स्लाइडिंग बालकनी के दरवाजे बंद करना भूल जाते हैं और यह आपके घर में घुसने की कोशिश करने वालों के लिए एक आसान एंट्री पॉइंट्स के रूप में काम करते हैं। अपने स्लाइडिंग दरवाजों को अंदर ग्रिल से सुरक्षित करने से तोड़ने की प्रक्रिया थोड़ी कठिन हो जाएगी और आपको कुछ समय मिलेगा।

सभी एंट्री पॉइंट्स और बगीचे में लाइट लगाएं

अक्सर चोरी, घुसपैठ की घटनाएं रात के अंधेरे में होती हैं, इसलिए शाम होते ही घर के सभी एंट्री पॉइंट्स और बगीचे में पर्याप्त लाइट जलाएं। इसके लिए मोशन-एक्टिवेटेड सिक्योरिटी लाइटें अच्छा विकल्प है। यह सोलर एनर्जी से चलती हैं। यह अंधेरे में ऑटोमेटिक ऑन हो जाती हैं और दिन के उजाले में बंद हो जाती हैं। इन्हें घर के सामने या पीछे लगा सकते हैं।

मजबूत तालों का करें इस्तेमाल

बाहरी दरवाजों पर मजबूत ताला लगाना चाहिए। लैमिनेटेड पैडलॉक एक अच्छा विकल्प है। इसकी बॉडी स्टील प्लेटों की परत से बनी होती है। लैमिनेटेड पैडलॉक काटने से रोकने के लिए उसकी सतह खुरदुरी बनी होती है, ताकि ताला आसानी से नहीं कट सके। इस ताले को ड्रिल या हथौड़े से भी तोड़ना आसान नहीं होता है। यह नॉर्मल तालों की तुलना में मजबूत होता है।

सवाल- टेक्नोलॉजी का सही उपयोग करके घर को कैसे सुरक्षित बना सकते हैं।

जवाब- टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके घर को सुरक्षित रखा जा सकता है। इसके लिए कुछ तरीके अपना सकते हैं। इसे नीचे दिए ग्राफिक से समझते हैं-

तीसरी आंख का काम करते सीसीटीवी कैमरा

सुरक्षा के नजरिए से सीसीटीवी कैमरे टैक्नोलॉजी की सबसे अच्छी खोज है। सीसीटीवी की सहायता से आप देख और सुन सकते हैं कि आपके घर के अंदर और बाहर क्या हो रहा है। आधुनिक स्मार्ट सीसीटीवी कैमरों को स्मार्टफोन, टैबलेट या कंप्यूटर से कनेक्ट करके कहीं से भी बैठकर आसानी से देख सकते हैं।

घर के दरवाजे पर लगवाएं स्मार्ट वीडियो डोरबेल

घर के एंट्री पॉइंट्स पर स्मार्ट वीडियो डोरबेल लगवा सकते हैं। स्मार्ट वीडियो डोरबेल के अंदर एक कैमरा छिपा होता है जो बिना दरवाजा खोले बाहर की हलचल को दिखाता है। सबसे अच्छी बात यह है कि सभी स्मार्ट वीडियो डोरबेल्स रिंग ऐप के साथ काम करती हैं। ऐसे में मोबाइल फोन में इसका ऐप डाउनलोड करके आसानी से कंट्रोल किया जा सकता है।

मोशन सेंसर घुसपैठ होने पर करता अलर्ट

मोशन सेंसर का काम मोशन यानी गति को डिटेक्ट करना है। मोशन सेंसर हमेशा एक सिस्टम के कॉम्पोनेन्ट के रूप में काम करता है, जो एक खास एरिया के आसपास होने वाली हलचल का पता लगाता है। मोशन सेंसर कई प्रकार से रिएक्ट करता है जैसेकि-

घर के आसपास होने वाली गतिविधि को डिटेक्ट करना।
खिड़की व दरवाजे के पास होने वाली मूवमेंट को पहचानता है।
दरवाजे, बालकनी के आसपास जाने पर डोर वेल को एक्टिवेट करता है।
इससे न केवल चोरी की घटना को रोका जा सकता है। बल्कि जब बच्चे या पालतू जानवर खतरनाक जगहों जैसे छत, बालकनी पर घूमते हैं, तो यह आपको अलर्ट करता है।

टेक्नोनॉजी का इस्तेमाल करने से कई तरह के फायदे हैं जैसे कि-

स्मार्ट CCTV और डोरवेल से 24 घंटे घर की निगरानी कर सकते हैं।
इन्हें घर के किसी भी हिस्से में आसानी से लगाया जा सकता है।
यह रिमोट कंट्रोल से जुड़े होते हैं, इसलिए स्मार्टफोन, लैपटॉप, टैबलेट और कंम्प्यूटर से आसानी से जोड़ सकते हैं।
किसी भी समय अजनबियों की गतिविधियों का पता लगाने में सक्षम हैं।
सवाल- चोरी या डकैती से बचने के लिए किस तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए?

जवाब- इस सवाल को लेकर हमने आगरा के डीसीपी IPS रवि कुमार से बात की। रवि कुमार बताते हैं कि काफी दिनों से खाली पड़े घरों में चोरी, डकैती जैसी घटनाएं ज्यादा देखी जाती हैं। क्योंकि चोर हमेशा उन घरों को अपना निशाना बनाते हैं, जहां किसी भी तरह की परेशानी न हो। ऐसे में कुछ सावधानियां बरतना बहुत जरूरी है। जैसेकि-

घर के बाहर किसी भी तरह का नोट परिवार के अन्य सदस्यों के लिए न छोड़ें।
चाबी को मकान के आस-पास न रखें। जो चोर को आसानी से मिल जाए।
अपने घर में ज्यादा नकदी या आसानी से चुराए जाने वाला कीमती सामान रखने से बचें।
जिन गहनों का डेली इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, उन्हें बैंक के लाॅकर में सुरक्षित रखें।
घर से बाहर निकलते समय सभी दरवाजे और खिड़कियां बंद जरूर करें, चाहे घर के आसपास ही क्यों न जा रहे हों।
अपने मकान नंबर की संख्या को साफ-सुथरा रखें, जिससे किसी भी तरह की समस्या होने पर आपातकालीन वाहनों को मकान खोजने में आसानी हो।

फर्जी लोगों को घर में घुसने से रोकें

अक्सर देखा गया कि दिन में होने वाली चोरी की घटनाओं में चोर किसी कंपनी का इंप्लॉई, गैस या विद्युत कंपनी का प्रतिनिधि बताकर घर में प्रवेश करते हैं। ऐसे में इन लोगों की पहचान के लिए कुछ तरीके अपनाएं। जैसेकि-

दरवाजे या खिड़की से पहले व्यक्ति की पहचान जरूर कर लें।
अनजान व्यक्ति होने पर सबसे पहले आईकार्ड जरूर मांगें।
व्यक्ति की पहचान से असंतुष्ट होने पर घर का दरवाजा न खोलें।
किसी भी मरम्मत या सामान बेचने वाले को घर में अकेला न छोड़ें।
अनजान व्यक्ति को लेकर किसी भी तरह का शक होने पर तुरंत पुलिस को सूचना दें।
अगर घर से बाहर कहीं छुट्टी पर जा रहे हैं तो इन बातों का जरूर ध्यान रखें।

अपने विश्वसनीय पड़ोसी या दोस्तों से ही जाने-आने को लेकर जानकारी शेयर करें।
घर में न्यूजपेपर, दूध या कोई डेली इस्तेमाल का सामान आता है तो कुछ दिन के लिए बंद कर दें।
घर के बाहर ऑटोमेटिक लाइट लगाएं, जिससे रात के समय घर के आसपास रोशनी रहे।
 

Tags

Share this story