Success Story IAS Swati Sharma: क्लर्क की पोती ने किया कमाल, UPSC क्रेक कर बनी IAS अधिकारी

₹64.73
क्लर्क की पोती ने किया कमाल
 

Success Story IAS Swati Sharma: सफलता पाने के लिए व्यक्ति की मेहनत, समर्पण और लगन अत्यंत महत्वपूर्ण होती है। यह सत्य है कि सफलता गरीबी और अमीरी के आधार पर नहीं आती है, बल्कि व्यक्ति के प्रयासों और निरंतरता के परिणामस्वरूप होती है। इस संदर्भ में, मध्य प्रदेश के सतना जिले की स्वाति शर्मा ने अपने उद्देश्यों को हासिल करने के लिए अपने जीवन में कठिनाइयों का सामना किया है।

स्वाति शर्मा का चयन कलेक्टर की पद के लिए हुआ है, जो उनकी मेहनत और समर्पण का परिणाम है। उन्होंने साल 2019 में यूपीएससी की परीक्षा में श्रेष्ठता हासिल करने में केवल एक नंबर की कमी के बावजूद हार नहीं मानी और उसके बाद की परीक्षा में उन्होंने देश भर में 15वां स्थान हासिल किया। यह उनके अद्वितीय आत्मविश्वास और निरंतरता का परिणाम है।

स्वाति शर्मा के परिवार की आर्थिक स्थिति बहुत ही सामान्य है, लेकिन उन्होंने अपने लक्ष्यों के प्रति अपनी महत्वपूर्ण सोच को कभी नहीं हारने दिया। उन्होंने बिना किसी कोचिंग के अपनी तैयारी की और यूपीएससी की परीक्षा में सफलता पाई।

उनके प्रेरणास्त्रोत उनके पिता थे, जिन्होंने कलेक्ट्रेट में लिपिक की पद को संभाला था। इसके कारण से स्वाति ने जीवन में कलेक्टर के पद को सीखा और उसका संघर्ष भी देखा। उनकी सफलता बिना किसी कोचिंग के परिणामस्वरूप हुई है, जो उनके प्रति की गई उनकी मेहनत का परिणाम है।

स्वाति शर्मा की कहानी हमें यह सिखाती है कि महत्वपूर्ण नहीं कि हमारी परिस्थितियाँ कैसी हो, बल्कि हमारे प्रत्येक प्रयास और मेहनत किस प्रकार से हमें हमारे लक्ष्य की ओर ले जा सकते हैं। उनकी साहसी प्रेरणा और संघर्ष से भरी कहानी हमें यह बताती है कि किसी भी स्थिति में हार नहीं मानना और मेहनत से अपने लक्ष्यों की प्राप्ति करना महत्वपूर्ण होता है।

Tags

Share this story