IAS Apala Mishra Success Story: कोचिंग छोड़कर सेल्फ स्टडी पर किया फोकस, अपाला मिश्रा की कामयाबी से हमें सीखना चाहिए

₹64.73
कोचिंग छोड़कर सेल्फ स्टडी पर किया फोकस
 

IAS Apala Mishra Success Story:  संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल सेवा परीक्षा भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय पुलिस सेवा, भारतीय विदेश सेवा, भारतीय पशुपालन सेवा, और अन्य अधिकारिक संगठनों में कर्मचारी चयन के लिए आयोजित की जाती है।

इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने के लिए उम्मीदवारों को भारतीय संविधान, भूगोल, इतिहास, राजनीति विज्ञान, विज्ञान और प्रविष्टि पत्र, गणित, अंग्रेजी भाषा, और व्यापारिक अभियांत्रिकी के क्षेत्रों में विस्तृत ज्ञान होना चाहिए।

यह एक बड़ी प्रतिस्पर्धापूर्ण परीक्षा है और अभ्यर्थियों को मेहनत, अध्ययन और संयम के साथ अपनी तैयारी करनी पड़ती है। यूपीएससी परीक्षा की सफलता का रास्ता चयनित अभ्यर्थियों के लिए चुनौतीपूर्ण होता है, और इसलिए जो छात्र इस परीक्षा को सफलतापूर्वक पास करते हैं, वे अपने प्रयासों के लिए प्रशंसा के पात्र होते हैं।

एक ऐसी मिसाल है आपाला मिश्रा, जो अपने यूपीएससी की तैयारी के दौरान चुनौतियों का सामना करना पड़ा। उन्होंने तीन अटेम्प्ट किए और दो बार प्रीलिम्स परीक्षा में चयन नहीं हो सका, लेकिन वह हार नहीं मानी और जारी रखी अपनी तैयारी। अपाला ने अंततः यूपीएससी परीक्षा को सफलतापूर्वक क्लियर किया और अपने इंटरव्यू में 215 अंक प्राप्त किए।

उन्होंने कोचिंग केंद्र की जगह सेल्फ स्टडी पर ज्यादा ध्यान दिया और संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा के विभिन्न पहलुओं की मदद के लिए मॉक टेस्ट द्वारा अपनी तैयारी को सुनिश्चित किया।

वे अपने उत्तरों की गुणवत्ता को सुधारने के लिए बार-बार मॉक टेस्ट देती थीं और अपने दोषों पर काम करती थीं। उनकी मेहनत और समर्पण ने उन्हें सफलता दिलाई और उन्हें इंटरव्यू में अच्छे अंक प्राप्त करने का मौका मिला।

आपाला मिश्रा की कहानी हमें यह सिखाती है कि सफलता के लिए निरंतर प्रयास करना, कठिनाइयों के बावजूद हार नहीं मानना, और आत्मविश्वास को बनाए रखना महत्वपूर्ण होता है। यह भारतीय प्रशासनिक सेवा में सफलता प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण गुण हैं।

Tags

Share this story