History of 29 february: जानिए 29 फ़रवरी का देश और दुनिया का इतिहास, पढ़िए पूरी खबर

₹64.73
History of 29 february:  जानिए 29 फ़रवरी का देश और दुनिया का इतिहास, पढ़िए पूरी खबर

History of 29 february: 29 फरवरी का इतिहास कई महत्वपूर्ण घटनाओं का साक्षी है और कई महत्वपूर्ण घटनाएं इतिहास के पन्नों में हमेशा के लिए दर्ज हो गई हैं।
29 फरवरी का इतिहास महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि 1896 में आज ही के दिन भारत के छठे प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई का जन्म हुआ था। स्वतंत्रता संग्राम में अपना योगदान होने के कारण उन्हें कई बार जेल भी जाना पड़ा और क्या आप जानते है कि अपने सराहनीय कार्यों के लिए उन्हें वर्ष 1991 में भारत के सर्वोच्च सम्मान ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया गया था।

29 फरवरी का इतिहास (29 February Ka Itihas) इस प्रकार है:
2012 में आज ही के दिन दुनिया की सबसे ऊंची मीनार और दूसरी सबसे ऊंची संरचना टोक्यो स्काईट्री का निर्माण पूरा हुआ था।
2008 में 29 फरवरी के दिन ही प्रसिद्ध साहित्यकार डॉ. बच्चन सिंह को अनुवाद के लिए साहित्य अकादमी दिया गया था।
2004 में आज ही के दिन अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन की यात्री मिशेल फोएल के अलेक्ज़ेंडर केलरी अंतरिक्ष में उतरे लेकिन तकनीकी खराबी के कारण उन्हें वापस स्टेशन पर आना पड़ा था।
1952 में 29 फरवरी के दिन ही पैदल चलने वालों के लिए सड़क पार करने संबंधी निर्देश पहली बार टाइम्स स्क्वेयर के 44 वीं स्ट्रीट और ब्रॉडवे में लगाए गए थे।
1952 में 28 फरवरी के दिन ही भारत के उपन्यासकार और नाटककार कुशवाहा कान्त का निधन हुआ था।
1928 में आज ही के दिन अमेरिकी कवयित्री और लेखिका इनका डोन्ना कूलब्रिद निधन हुआ था।
1904 में 28 फरवरी के दिन ही भरतनाट्यम की प्रसिद्ध भारतीय नृत्यांगना रुक्मिणी देवी अरुंडेल का जन्म हुआ था।
1896 में आज ही के दिन भारत के छठे प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई का जन्म हुआ था।
1860 में आज ही के दिन हरमन होल्‍लेरिथ ने सारणी मशीन का आविष्‍कार किया था।
1840 में 28 फरवरी के दिन ही आधुनिक पनडुब्बी के जनक आयरिश अमेरिकी वैज्ञानिक जॉन फिलिप हॉलैंड का जन्म हुआ था। 

Tags

Share this story