Ravneet Singh Bittu in BJP: पंजाब में कांग्रेस को बड़ा झटका, लुधियाना सांसद रवनीत सिंह बिट्टू बीजेपी में शामिल

₹64.73
Ravneet Singh Bittu in BJP: पंजाब में कांग्रेस को बड़ा झटका, लुधियाना सांसद रवनीत सिंह बिट्टू बीजेपी में शामिल
Ravneet Singh Bittu in BJP: पंजाब में लोकसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस (Congress) को बड़ा झटका लगा है. लुधियाना से सांसद रवनीत सिंह (Ravneet Singh Bittu) बिट्टू ने बीजेपी का दामन थाम लिया है. रवनीत दिवंगत पूर्व सीएम बेअंत सिंह के पोते हैं. 

उन्हें राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का करीबी माना जाता था. दिल्ली स्थित बीजेपी के मुख्यालय में रवनीत सिंह बिट्टू ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. हाल ही में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी पर उन्होंने कांग्रेस से अलग रुख अपनाया था और दिल्ली के सीएम को निशाने पर लिया था. 

रवनीत सिंह ने अपने 'एक्स' पोस्ट में अरविंद केजरीवाल पर हमला बोला था. उन्होंने लिखा था, ''केजरीवाल एंड पार्टी स्वराज और जन लोकपाल का वादा करके सत्ता में आई थी, लेकिन विडंबना यह है कि वे सबसे बड़े ठग साबित हुए. दिल्ली में भ्रष्टाचार का यह मामला तो बस शुरुआत भर है.'' 

उन्होंने यह ट्वीट तब किया था जब राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के कई बड़े नेता केजरीवाल के समर्थन में खुलकर सामने आए थे. रवनीत सिंह के अब तक के राजनीतिक करियर की बात करें तो वह तीन बार के सांसद हैं. 2014 और 2019 में लुधियाना से सांसद निर्वाचित हुए थे जबकि 2009 में कांग्रेस ने उन्हें आनंदपुर साहिब से टिकट दिया था और उन्होंने जीत दर्ज की थी. 

रवनीत सिंह बीजेपी ज्वाइन करने के पीछे की वजह गिनाते हुए कहा, ''पीएम मोदी जी के साथ पिछले 10 वर्षों में गहरे संबंध रहे हैं. पीएम मोदी, अमित शाह जी, जेपी नड्डा साहब का आभार जताता हूं. मैं एक ही बात कहूंगा कि मैं एक शहीद परिवार से आता हूं. मेरे दादा बेअंत सिंह मुख्यमंत्री थे. पंजाब में अंधेरे का समय देखा और उसे कैसे ठीक किया वह भी देखा है. पीएम मोदी पंजाब के लिए बहुत कुछ करना चाहते हैं. बाकी स्टेट कहां से कहां चले लेकिन पंजाब में एक गैप रह गया जहां पुल बनने की जरूरत है. ''

पंजाब को केंद्र से जोड़ेंगे- बिट्टू
रवनीत सिंह ने आगे कहा, ''पंजाब के किसान, मजदूर और उद्योग को साथ लाने की जरूरत है. लोगों को पता है कि सरकार 10 साल रही और आगे भी रहेगी, तो हम क्यों पीछे रहें. हमारी पंजाब क्यों पीछे रहे. लेकिन एक टाइम था कि अकाली दल ऐसा बिल लेकर आए कि जनता गुमराह हो गई और अब उससे पीछे हट गई. हम पंजाब के लोगों को बीजेपी और पीएम मोदी जी से जोड़ेंगे.'' 

Tags

Share this story