Jharkhand Ex Cm Soren: जमीन घोटाला मामले में हेमंत सोरेन की ईडी ने बढाई 5 दिन की रिमांड, पत्नी ने सोशल मीडिया पर शेयर किया भावुक संदेश

₹64.73
Jharkhand Ex Cm Soren: जमीन घोटाला मामले में हेमंत सोरेन की ईडी ने बढाई 5 दिन की रिमांड, पत्नी ने सोशल मीडिया पर शेयर किया भावुक संदेश

Jharkhand Ex Cm Soren: रांची कोर्ट ने जमीन घोटाला मामले में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की प्रवर्तन निदेशालय (ED) की रिमांड 5 दिन और बढ़ा दी है। जांच एजेंसी ने PMLA कोर्ट से सोरेन की रिमांड 7 दिन बढ़ाने की अपील की थी।

ED ने कहा पूछताछ के दौरान सोरेन ने जो जवाब दिए हैं, उनसे हम संतुष्ट नहीं हैं। कई और सवाल भी हैं, जिनके जवाब चाहिए। ऐसे में रिमांड की जरूरत होगी। अब ED पूर्व सीएम से 12 फरवरी तक पूछताछ करेगी।

ED बड़गई के 8.46 एकड़ जमीन घोटाला मामले में सोरेन से पूछताछ कर रही है। सोरेन को 31 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था। 3 फरवरी को सोरेन को 5 दिन की ED की रिमांड पर भेजा गया था। बुधवार को उनकी रिमांड खत्म हो गई थी।

आज हेमंत की मैरिज एनवर्सरी, पत्नी ने लिखा..

झारखंड के अस्तित्व और अस्मिता की रक्षा के लिए हेमंत जी ने झुकना स्वीकार नहीं किया। उन्होंने षड्यंत्र से लड़ना और उसे हराने के लिए अपने आप को समर्पित करना बेहतर समझा। आज हमारी शादी की 18वीं सालगिरह है, पर हेमंत जी परिवार के बीच नहीं हैं।

बच्चों के साथ नहीं हैं। विश्वास है वो इस षड्यंत्र को हरा विजेता बनकर हम सभी के साथ शीघ्र होंगे। मैं एक वीर झारखंडी योद्धा की जीवन साथी हूं। आज के दिन मैं भावुक नहीं होऊंगी। हेमंत जी की तरह ही विषम परिस्थितियों में भी मुस्कुराते हुए उनके साहस और संघर्ष की शक्ति बनूंगी।

सोरेन के वकील ने कहा था- पूर्व CM को कैंप जेल में रखा जाए

पांच दिनों की ED की कस्टडी के दौरान उनके वकील की ओर से हेमंत सोरेन को कैंप जेल में रखने की मांग की गई थी। कोर्ट में दलील दी गई कि हेमंत सोरेन झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हैं। वह कई शारीरिक समस्याओं से पीड़ित हैं। इसलिए उन्हें रात में कैंप जेल में रहने की अनुमति दी जाए। जिसका ED के वकील ने विरोध किया था।

ED ने कहा था कि कानून में रिमांड के लिए दो ही प्रावधान हैं, ज्यूडिशियल रिमांड और पुलिस रिमांड। कोर्ट ने सोरेन को पुलिस रिमांड पर भेजा है। रिमांड में अभियुक्त की सुरक्षा की जिम्मेदारी ED पर है। ऐसे में हेमंत सोरेन को रात में कैंप जेल में रखने की मांग कानूनन ठीक नहीं। इसके बाद सोरेन को होटवार जेल में रखा गया।

ED को पूछताछ में खास हासिल नहीं हुआ

ED के अधिकारी पांच दिनों तक हेमंत सोरेन से पूछताछ करते रहे, लेकिन इस दौरान कुछ विशेष जानकारी नहीं निकाली जा सकी है। अब तक हुई पूछताछ के दौरान बड़गई अंचल की जिस जमीन को लेकर सवाल-जवाब किए गए, हेमंत सोरेन ने उसमें अपनी भूमिका से इनकार किया है। उन्होंने ED से कहा कि उस जमीन से मेरा कोई लेना-देना नहीं है।

ED ने ये सवाल किए

1. बड़गाई अंचल की बरियातू स्थित 8.5 एकड़ जमीन किसके कब्जे में है?

2. जमीन खरीदने के लिए पैसा कहां से आया या जुटाया गया?

3. आपके पास कुल कितनी चल और अचल संपत्ति है?

सोरेन की गिरफ्तारी के बाद चंपई बने CM
31 जनवरी को हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के बाद 2 फरवरी की दोपहर चंपई सोरेन ने झारखंड के 12वें मुख्यमंत्री की शपथ ली। चंपई के साथ कांग्रेस के आलमगीर आलम और राजद के सत्यानंद भोक्ता ने मंत्री पद की शपथ ली। नई सरकार ने 5 फरवरी को बहुमत साबित किया।

विधानसभा में वोटिंग से पहले हेमंत सोरेन ने कहा था कि मेरी गिरफ्तारी में राजभवन भी शामिल हो सकता है। बहुमत साबित होने के बाद ED ने फिर से हेमंत को कस्टडी में ले लिया था।
 

Tags

Share this story