SSY: बेटियों के उज्ज्वल भविष्य के लिए है सुकन्या समृद्धि योजना

₹64.73
बेटियों के उज्ज्वल भविष्य के लिए है सुकन्या समृद्धि योजना
SSY: हरियाणा सरकार द्वारा बेटियों के उज्ज्वल भविष्य लिए सुकन्या समृद्धि योजना चलाई गई है। यदि आपके घर में एक नन्ही बिटिया ने जन्म लिया है और आप बेटी के भविष्य के लिए पढ़ाई, उच्च शिक्षा एवं शादी आदि के लिए एक बेहतर प्लांनिंग कर रहे हैं तो सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना को इसी उदेश्य से बनाया है। यह योजना केवल बेटियों के लिए ही बनाई गई है। इस योजना का लाभ दत्तक पुत्री (जिसे गोद लिया हो) के लिए भी क्रियान्वित किया जा सकता है।

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि सुकन्या समृद्धि योजना बालिकाओं के लिए एक छोटी बचत योजना है, जो बेटियों के भविष्य में होने वाले खर्च की पूर्ति करेगा। योजना को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के अंतर्गत शुरू किया गया है। सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 10 वर्ष से कम आयु की बालिकाओं के नाम से माता पिता या उनके लीगल अभिभावक द्वारा यह खाता खुलवाया जा सकता है, जो कि 250 रुपये से शुरू होकर 1.50 लाख रुपये हो सकता है।  सरकार का मुख्य उद्देश्य इस योजना के माध्यम से देश के बेटियों का भविष्य सुरक्षित करना है। इस योजना का खाता परिवार का कोई भी सदस्य जैसे माता पिता या अन्य कोई अभिभावक आदि खुलवा सकता है। योजना के तहत केवल बेटियों का खाता खोला जाता है। आप सुकन्या समृद्धि योजना का खाता अपने किसी भी नजदीकी पोस्ट ऑफिस या अधिकृत बैंक में जाकर खुलवा सकते है।

 प्रवक्ता ने बताया कि इस योजना हेतु बालिका की अधिकतम प्रवेश आयु 10 वर्ष है। सालाना निवेश राशि 1000 रुपये से राशि एक लाख 50 हजार रुपये है। सुकन्या समृद्धि योजना में कुल 15 वर्ष तक प्रीमियम राशि जमा करनी होती है, जिसकी परिपक्वता अवधि 21 वर्ष है। वर्तमान में इस योजना में मिलने वाले ब्याज की दर 7.60 प्रतिशत है। बालिका  की आयु 18 वर्ष पूरे होने पर उसकी उच्च शिक्षा की पढ़ाई हेतु 50 प्रतिशत राशि निकालने का विकल्प दिया गया है। सुकन्या समृद्धि योजना का खाता आप दूसरी जगह भी ट्रांसफर करवा सकते है। यदि लड़की बालिग होने के बाद अपना खुद चलाना चाहती है, तो योजना में भी ये भी प्रावधान है।

उन्होंने बताया कि यह योजना लड़कियों के सुखद भविष्य के लिए बहुत ही कारगर है। इसलिए अभिभावकों को इस योजना का अवश्य ही लाभ उठाना चाहिए। इससे अभिभावकों पर कोई ज्यादा आर्थिक बोझ भी नहीं पडता और लड़कियों के लिए उच्च शिक्षा के साथ साथ उनकी शादी के लिए भी भरपूर सहयोग मिलता है।  

Tags

Share this story