Ram Mandir: राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को लेकर हरियाणा सरकार की बड़ी तैयारी, 15000 मंदिरों में होगा लाइव टेलीकास्ट

₹64.73
sc
 

Ram Mandir: अयोध्या में श्री राम लला की प्राण प्रतिष्ठा के दिन 22 जनवरी को हरियाणा में भी विशेष तैयारियां की जा रही हैं। शिक्षा विभाग ने स्कूलों में रामायण पाठ कराए जाने को लेकर ऑर्डर जारी किए हैं।

साथ ही विशेष सफाई अभियान चलाए जाने के भी आदेश दिए गए हैं। स्कूल कैंपस के साथ ही क्लास रूम, छत, पेड़-पौधों और खरपतवार में सफाई की जाएगी। जिला शिक्षा अधिकारियों को इस पूरे कार्यक्रम की वीडियो ग्राफी भी कराने की हिदायत दी गई है।

इसके अलावा राज्य के 15 हजार मंदिरों में भी प्राण प्रतिष्ठा का लाइव टेलीकास्ट भी किया जाएगा। किसी प्रकार की कोई अनहोनी न हो इसके लिए 7 जिलों में पुलिस के द्वारा अलर्ट जारी किया गया है।

यहां देखिए ऑर्डर...

मंदिरों में प्राण प्रतिष्ठा का LIVE प्रसारण

हरियाणा में 22 जनवरी को यादगार बनाने के लिए सरकार, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS), विश्व हिंदू परिषद् (VHP) और अन्य धार्मिक और सामाजिक संगठनों ने व्यापक तैयारियां की हैं।

राज्य के करीब 15 हजार मंदिरों में भगवान श्री राम लला की प्राण प्रतिष्ठा का LIVE प्रसारण किया जाएगा। शराब बंदी के लिहाज से इस दिन ड्राई डे घोषित करने वाले राज्यों में हरियाणा भी शामिल हो गया है।

नूंह सहित 7 जिलों में अलर्ट

अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले श्री राम लला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले हरियाणा के 7 जिलों में पुलिस अलर्ट हो गई है। नूंह, गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल, झज्जर, यमुनानगर और जींद के सेंसिटिव जोन पर पुलिस सतर्कता बढ़ा दी गई है। खासकर मंदिर और मस्जिद जैसे धर्म स्थलों को लेकर पुलिस एक्टिव है।

पुलिस की ओर से सलाह दी गई है कि ट्रेन के जरिए उत्तर प्रदेश (UP) की यात्रा करने से लोग परहेज करें। इसके अलावा जिलों में पहले हुई हिंसा के केसों में उपद्रवियों की पहचान के प्रयास हो रहे हैं।

संभावना है कि प्राण प्रतिष्ठा से पहले पुलिस उनको हिरासत में ले ले।सोशल मीडिया पर चल रहे कई भड़काऊ मैसेज और वीडियो के साथ नूंह, तावड़ू और पुन्हाना में मंदिरों और मस्जिदों में खास नजर रखी जा रही।

इसलिए अलर्ट हुई पुलिस

श्री राम लला की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर हरियाणा पुलिस के अलर्ट रहने का सबसे बड़ा कारण नूंह हिंसा है। पिछले साल नूंह में हुई दो समुदायों के बीच हिंसा में 6 लोगों की मौत हो गई थी।

जिसमें 2 होमगार्ड के जवान और 4 आम नागरिक शामिल थे। इस घटना में कई FIR दर्ज की गई। 200 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया। एक महीने तक पांच से अधिक जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद की गईं।

इस बार ऐसा कुछ न हो इसलिए पुलिस से लेकर CID तक अलर्ट मोड पर है।

Tags

Share this story