Lawrence Bishnoi: लॉरेंस बिश्नोई के गुर्गों का एनकाउंटर, नेता की हत्या करने की थी प्लानिंग

₹64.73
ty
 

Lawrence Bishnoi: पंजाब के जालंधर में लॉरेंस बिश्नोई गैंग के गैंगस्टरों और पुलिस के बीच एनकाउंटर हुआ है। जिसमें 2 बदमाशों को गोली लगी है, जबकि पगड़ी पर गोली लगने से एक पुलिसकर्मी की जान बच गई। दोनों गैंगस्टर कई केसों में भगौड़े थे। गैंगस्टरों से पुलिस ने .30 और एक 32 बोर का पिस्टल बरामद किया है।

पुलिस कमिश्नर स्वप्न शर्मा ने बताया कि हिरासत में लिए गए गैंगस्टरों में जालंधर का रहने वाला नितिन और होशियारपुर के बुल्लोवाल का रहने वाला आशीष है।

दोनों लॉरेंस गैंग से संबंध रखते हैं। दोनों USA में बैठे गैंगस्टर लक्की के इशारे पर शहर में दो लोगों को टारगेट करने वाले थे। इनमें जालंधर का एक बड़ा नेता भी शामिल था।

टारगेट किलिंग के लिए 25 लाख रुपए मिले थे। इनके खिलाफ पंजाब में 10 से ज्यादा केस दर्ज हैं।

गैंगस्टरों के एनकाउंटर के बाद मौके पर मौजूद लोग और पुलिस कर्मचारी। साथ में सड़क पर पड़ा खोल।

सीपी स्वप्न शर्मा ने बताया कि गैंगस्टरों के लिंक लॉरेंस गैंग के सक्रिय गैंगस्टर बिन्नी गुर्जर के साथ भी सामने आए हैं।

दोनों आरोपी लक्की और गुर्जर के साथ काफी समय से लिंक में थे। सिद्धू मूसेवाला मर्डर केस में नामजद मन्नू और रूपे को सिद्धू की हत्या के बाद लक्की ने होशियारपुर में अपने पास ठहराया था। लक्की एक साल पहले USA भाग गया था।

सड़क पर खड़ी गैंगस्टरों की कार और उसकी जांच करती पुलिस।

इस I-20 कार में गैंगस्टर सवार थे। जिसमें गोली का निशान पड़ा है।

बदमाशों की कार का एक शीशा फायरिंग के दौरान टूट गया।

सड़क पर बिखरा शीशा और मौके पर मौजूद लोग।

इस I-20 कार में बदमाश सवार थे।

2 लोगों की टारगेट किलिंग करनी थी
एनकाउंटर सुबह सवा 9 से साढ़े 9 बजे के बीच नाखा वाले बाग से सटी गुलमोहर कॉलोनी के अंदर हुआ है।

पुलिस कमिश्नर स्वप्न शर्मा ने बताया कि हमें एजेंसी से मिला था कि दोनों गैंगस्टर शहर में कुछ बड़ा प्लान कर रहे हैं।

सूचना के आधार पर पिछले करीब एक हफ्ते से हमारी टीमें गुर्गों की तलाश में थी। प्राथमिक जांच में पता चला है कि ये दो लोगों की रेकी कर चुके थे। अब सिर्फ वारदात को अंजाम देना रह गया था।

आई-20 कार में थे, पुलिस के घेरने पर की फायरिंग
रविवार सुबह CIA की टीम ने गैंगस्टरों की आई-20 कार को घेरा लिया। इस दौरान ड्राइवर सीट पर बैठे आरोपी ने शीशे के अंदर से पुलिस पर गोली चलाई।

गोली पुलिस मुलाजिम की पगड़ी पर लगी। जिसके बाद पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की।

इसमें दोनों गैंगस्टर जख्मी हो गए। जांच के लिए पहुंची फोरेंसिक टीम ने गैंगस्टरों के बरामद किए गए पिस्टलों के सैंपल लिए हैं।

मौके से टीम ने करीब 17 से ज्यादा चले हुए खोल भी बरामद किए हैं। आरोपियों का कार का नंबर पीबी-08-बीजेड-1800 है। दोनों गैंगस्टर हत्या, एक्सटॉर्शन, सुपारी किलिंग, डकैती सहित कई मामलों में वांछित थे।

ASI निशान सिंह (CIA में तैनात), जिनकी पगड़ी में गोली लगने से जान बच गई।

पगड़ी में फंसी गोली
ASI निशान सिंह ने बताया कि मैं टीम के साथ घटनास्थल पर गया था। सबसे आगे मैं था। गैंगस्टरों ने सीधी गोली मेरे सिर पर मारी, जोकि मेरी पगड़ी में फंस गई।

घटना में मुझे किसी प्रकार की कोई क्षति नहीं पहुंची है। टीम ने साथ ही साथ मुझे पीछे किया और जवाबी कार्रवाई की। मुझे घटना में कोई चोट नहीं आई है।

प्रत्यक्षदर्शी कुलवंत सिंह ने कहा कि सुबह 9 बजे से ही पुलिस पूरे एरिया के लोगों को घरों में रहने को कह रही थी।

प्रत्यक्षदर्शी बोले- 50 से ज्यादा गोलियां चली
प्रत्यक्षदर्शी कुलवंत सिंह ने कहा- सुबह उनके पास कुछ पुलिस मुलाजिम पहुंचे। उन्होंने कहा पूरा एरिया सील किया गया है।

आप घर के अंदर ही रहिएगा, क्योंकि ये नहीं पता कि लोग किस तरफ से आ जाएं। पुलिस ने दो बार चेतावनी देकर हमें पीछे किया। कुलवंत सिंह ने बताया कि मौके पर करीब 50 से ज्यादा गोलियां चली।

क्राइम सीन जांच जांच के लिए पहुंची फोरेंसिक टीम ने गैंगस्टरों की रात और बरामद किए गए पिस्टलों से सेंपल खबरे हैं।

जिसे जांच के लिए भेज दिया है। मौके से टीम ने करीब 10 से ज्यादा चले हुए खोल भी बरामद किए हैं। आरोपियों का कार का नंबर पीबी-08-बीजेड-1800 है।

Tags

Share this story