Kisan Protest: हरियाणा में किसान आंदोलन के समर्थन में भाकियू चढूनी ने निकाला ट्रैक्टर मार्च

₹64.73
Kisan Protest: हरियाणा में किसान आंदोलन के समर्थन में भाकियू चढूनी ने निकाला ट्रैक्टर मार्च

Kisan Protest: भारतीय किसान यूनियन (चढूनी) की ओर से आज पुंडरी मे किसान आंदोलन के समर्थन ने ट्रैक्टर मार्च निकाला गया जिसका नेतृत्व युवा प्रदेशाध्यक्ष विक्रम कसाना एडवोकेट व जिला कार्यकारी अध्यक्ष गुरनाम सिंह फरल,ब्लाक प्रधान रणधीर बरसाना,युवा जिलाध्यक्ष विक्रम दुसैण ने किया।यह ट्रैक्टर मार्च अनाज मंडी से शुरू होकर गुरू ब्रह्मानंद चौक,बस स्टैंड के पास से होकर तहसील तक व वापिस शहर से होकर मंडी मे सम्पन्न हुआ। ट्रैक्टर मार्च मे शामिल सैकड़ो ट्रैक्टरो पर सवार किसानो ने केन्द्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। गुस्साए किसानो ने कहा कि सरकार को आंदोलनरत किसानो से बातचीत करके इस मुद्दे का समाधान निकालना चाहिए। 

युवा प्रदेशाध्यक्ष विक्रम कसाना,कार्यकारी अध्यक्ष गुरनाम सिंह फरल ने कहा कि अब केन्द्र सरकार दावा कर रही है कि फसलो पर लागत मूल्यो मे 50 प्रतिशत रिटर्न की गारंटी सुनिश्चित करने के लिए 22 फसलो की एसएसपी बढाई है,अगर ऐसा हुआ है तो किसानो को इसका लाभ क्यो नही मिल रहा। सरकार लगातार किसानो के हितो से खिलवाड कर रही है।किसानो के साथ लगातार कभी फसल खरीद,कभी मुआवजे,कभी फसल बीमा जैसे घोटाले हो रहे है। किसान जब अपना हक मांगने दिल्ली कूच कर रहा है तो हरियाणा सरकार ने प्रदेश को जगं का मैदान ओर जेल बनाकर रख दिया है। उन्होने कहा कि लोकतंत्र मे जनता ही सबसे बड़ी ताकत है जो सता की कुर्सी पर बैठा सकती है वह सता से बाहर का रास्ता भी दिखा सकती है।

भाकियू चढूनी ने 18 फरवरी को कुरुक्षेत्र मे ब्रह्म सरोवर के पार्क मे हरियाणा के सभी किसान संगठन,मजदूर,व्यापारी, कर्मचारी,सरपंच एसोसिएशन सहित सभी सगठनो की साझी मीटिंग बुलाकर आगामी रणनीतिक बनाकर आंदोलन को मजबूत व तेज करने   का निर्णय लिया जायेगा। वहीं अगर यह बर्बरतार्पूण करवाई सरकार नहीं रोकती और किसान नेताओं की गिरफ्तारी करती है तो फिर पूरे हरियाणा को जाम करने की काल भी दी जा सकती है। सरकार किसानों की मांगे ना मानकर उन्हे आंदोलन करने पर मजबूर करना चाहती है। 

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार की मंशा अराजकता फैलाकर प्रदेश का माहौल खराब करना है। उन्होंने कहा कि अपनी मांगों को दिल्ली कूच कर रहे किसानों को शंभू व खनौरी-पातड़ा बॉर्डर पर किसानों से हुए बर्बरतार्पूण व्यवहार गलत व निदंनीय है, जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसानों की सभी मांगें जायज है।

इस प्रदर्शन मे ब्लाक उप प्रधान कुडा राम पबनावा,हरजिनदर हाबडी,गुरुमुख फरल,रामपाल मुदडी,जोरावर सिंह,नरेंद्र फरल,ओमप्रकाश बरसाना,भीम खनौदा,बंता कसाना,बलकार पबनावा,लखा हाबडी,लहणा सिंह मुदडी सहित सैकड़ो किसान उपस्थित थे।

Tags

Share this story