IAS Swadha Dev Singh Success Story: प्रिंसिपल की बेटी ने रच दिया इतिहास, कलेक्टर बन राष्ट्रपति से पाया सम्मान

₹64.73
sc
 

IAS Swadha Dev Singh Success Story: लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा को देश की सबसे कठिन परीक्षा माना जाता है। साल 2014 की यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में 66वीं रैंक लाकर स्वधा देव सिंह ने इतिहास रच दिया था।


स्वधा देव सिंह को केंद्रीय पंचायतीराज मंत्रालय की ओर से आयोजित समारोह में राष्ट्रपति ने भूमि सम्मान 2023 से नवाजा गया था। आईएएस अधिकारी स्वधा देव सिंह उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखती हैं। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस की रहने वाली हैं। उन्होने शुरुआती शिक्षा बनारस से ही ग्रहण की है।

स्वधा देव सिंह ने दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज और दिल्ली स्कूल ऑफ़ इकनॉमिक्स से ग्रेजुएशन किया है। स्वधा देव सिंह ने साल 2014 में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के पहले ही प्रयास में सफलता प्राप्त की थी। 

स्वधा वर्तमान में उड़ीसा में तैनात हैं। उनके पति भी आईएएस ऑफिसर हैं। उन्होंने आईएएस समर्थ वर्मा से शादी की थी। यह उनकी दूसरी शादी है। स्वधा देव सिंह प्रख्यात शिक्षाविद एवं डीएवी पीजी कॉलेज के पूर्व प्राचार्य प्रो. सत्यदेव सिंह की बेटी हैं। स्वधा देव सिंह की पहली शादी आईएएस चंचल राणा से हुई थी लेकिन कुछ समय बाद दोनों अलग हो गए।

Tags

Share this story