Haryana Vidhansabha: हरियाणा के ग्रेटर फरीदाबाद में नया एसडीएम कार्यालय खोलने पर विचार करेगी सरकार

₹64.73
Haryana Vidhansabha: हरियाणा के ग्रेटर फरीदाबाद में नया एसडीएम कार्यालय खोलने पर विचार करेगी सरकार 
Haryana Vidhansabha: हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि ग्रेटर फरीदाबाद तेजी से विकसित हो रहा है और यहां नए सेक्टर बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद में जनसंख्या के विस्तार को देखते हुए ग्रेटर फरीदाबाद में नए एसडीएम कार्यालय खोलने पर सरकार गंभीरता से विचार करेगी ताकि स्थानीय जनता को इसका लाभ मिल सके। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि फिलहाल एक जुलाई 2024 तक केंद्र सरकार के आदेश पर यहां भूमि की नई सीमाओं के निर्धारण पर रोक लगी हुई है। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला वीरवार को विधानसभा बजट सत्र के तीसरे दिन प्रश्नकाल के दौरान एक सदस्य के सवाल का जवाब दे रहे थे।

एक अन्य सदस्य के सवाल के जवाब में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि समालखा में अंडरपास नंबर 44 पर काम शुरू किया गया है और यह कार्य मई 2024 तक पूरा किया जाएगा। इसके बाद समालखा शहर में गांव नारायणा की ओर जाने वाली सड़क पर रेलवे क्रॉसिंग पर अंडरपास का निर्माण का कार्य शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर अभी इस अंडरपास का निर्माण कार्य शुरू करते है तो एनएच की कनेक्टिविटी बाधित होगी। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि इस अंडरपास की प्रशासनिक व रेलवे की स्वीकृति मिल चुकी है और अंडरपास बनने से लोगों की आवाजाही सुगम हो जाएगी।

कैथल विधानसभा से जुड़े एक सवाल के जवाब में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि गांव छौत व गुहणा की सड़क तीन करम की है और इतनी कम जमीन को पीडब्ल्यूडी टेकअप नहीं करता है। उन्होंने सुझाव दिया कि स्थानीय गांवों के किसान सात करम जमीन सरकार को मुहैया करा देते हैं तो, भविष्य में सड़क का निर्माण करा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता है कि लोगों की आवाजाही सुगम हो।

दादरी विधानसभा क्षेत्र के एक सवाल के जवाब में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि खैरड़ी मोड़ से रोहतक फाटक तक चार मार्गीय सड़क का निर्माण किया जाना है और इसको लेकर फिलहाल वन विभाग की अनुमति लंबित है। उन्होंने कहा कि वन विभाग की अनुमति मिलने के बाद इस सड़क का निर्माण शुरू करा दिया जाएगा। वहीं दादरी-रोहतक रोड पर फ्लाईओवर का निर्माण कार्य जुलाई में शुरू हो जाएगा क्योंकि निर्माण कार्य के लिए सभी प्रकार की अनुमति मिल चुकी है।

एक अन्य सवाल के जवाब में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सरकार की वर्ष 2019 की पॉलिसी के तहत 20 किलोमीटर दूरी पर विश्राम गृह होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पानीपत के इसराना ब्लॉक से पानीपत शहर का विश्राम गृह 12 किलोमीटर दूरी पर है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इसराना में सिंचाई विभाग का भी विश्राम गृह है, ऐसे में भविष्य में सरकार मतलौडा और इसराना में विश्राम गृह बनवाने पर विचार करेगी।

Tags

Share this story