Haryana News: हरियाणा में 100 करोड़ का घोटाला सामने आने के बाद हड़कंप, 14 बड़े अधिकारी गिरफ्तार

₹64.73
cs
 

Haryana News: हरियाणा में एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) की टीम ने सहकारिता विभाग की ओर से चलाई जा रही एकीकृत सहकारी विकास परियोजना में 100 करोड़ से अधिक रुपए के घोटाले का पर्दाफाश किया है।

टीम ने इस मामले में 10 वरिष्ठ अधिकारियों और 4 अन्य व्यक्तियों को गिरफ्तार किया।

ACB की रिपोर्ट के मुताबिक, विभाग के सहायक रजिस्ट्रार सहकारी समिति और जिला रजिस्ट्रार सहकारी समिति ने ऑडिटर की मिलीभगत से सरकारी खाते में जमा पैसों से अपने निजी हित में फ्लैट, जमीन आदि खरीदे हैं।

इन अधिकारियों ने सरकारी रिकॉर्ड, बैंक खातों संबंधी विवरण, आदि भी जाली लगाए थे।

ब्यूरो की टीम मामले में सबूत जुटाकर गहनता से जांच कर रही है। आरोपियों के खिलाफ करनाल-अंबाला रेंज में विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। हरियाणा में सहकारिता विभाग के मंत्री बनवारी लाल हैं

अब तक इन अधिकारियों की हो चुकी गिरफ्तारी
घोटाला सामने आने के बाद ACB की टीम इसमें संलिप्त 6 राजपत्रित अधिकारियों, ICDP रेवाड़ी के 4 अन्य अधिकारियों और 4 अन्य व्यक्तियों को गिरफ्तार कर चुकी है।

इन आरोपियों में ऑडिट ऑफिसर बलविंदर, डिप्टी चीफ ऑडिटर योगेंद्र अग्रवाल, जिला रजिस्ट्रार सहकारी समिति करनाल रोहित गुप्ता, सहायक रजिस्ट्रार सहकारी समिति अनु कौशिक, रामकुमार, जितेंद्र कौशिक, कृष्ण बेनीवाल शामिल हैं।

इसी प्रकार विभाग के ICDP रेवाड़ी के लेखाकार सुमित अग्रवाल, डेवलपमेंट ऑफिसर नितिन शर्मा और विजय सिंह भी ACB की गिरफ्त में हैं। टीम ने इस मामले में 4 अन्य व्यक्तियों स्टालिन जीत, नताशा कौशिक, सुभाष और रेखा को पकड़ा है। इन सब को जेल भेजा जा चुका है।

कपूर बोले- रिश्वत मांगने वालों की जानकारी दें
ACB के महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने आमजन से अपील की कि यदि कोई भी अधिकारी या कर्मचारी काम के लिए रिश्वत मांगता है तो इसकी जानकारी ACB के टोल फ्री नंबर 1800-180-2022 और 1064 पर दें।

Tags

Share this story