Haryana News: गृह मंत्री अनिल विज ने ज्ञानेंद्र भरतरिया के परिवार को MWB की ओर से करवाए 10 लाख रुपए के टर्म इंश्योरेंस की दी राशि

₹64.73
Haryana News: गृह मंत्री अनिल विज ने ज्ञानेंद्र भरतरिया के परिवार को MWB की ओर से करवाए 10 लाख रुपए के टर्म  इंश्योरेंस की दी राशि
Haryana News: मीडिया वैलबीग एसोसिएशन(रजिस्टर्ड) द्वारा पत्रकारों के करवाये गए टर्म इन्श्योरेंस के अंतर्गत 10 लाख रुपए की राशि का चेक स्वर्गीय पत्रकार ज्ञानेंद्र भरतरिया के पुत्र आरुष  को हरियाणा के गृह व स्वस्थय मंत्री अनिल विज द्वारा प्रदान की गई।ज्ञानेन्द्र भरतरिया प्रसार भारती के सलाहकार,एमएच वन,ए2जेड के न्यूज़ हैड,जी टीवी,इंडिया टीवी व इससे पहले दैनिक जागरण, राष्ट्रीय सहारा जैसे कई संस्थानों में विभिन्न पदों पर कार्यरत रहे थे।मृत्यु से पूर्व वह पांचजन्य के सहयोगी संपादक थे।इस अवसर पर एम डब्ल्यु बी उत्तर भारत के अध्यक्ष चन्द्र शेखर धरणी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष:निश्चिल भटनागर, महासचिव: सुरेन्द्र मेहता,कोषाध्यक्ष:तरुण कपूर,प्रांतीय संगठन सचिव:पवन चोपड़ा,कार्यकारिणी सदस्य: दयानंद शर्मा,सुधीर तंवर,विकेश शर्मा,राजकुमार ,यमुनानगर जिलाध्यक्ष:देवीदास शारदा इत्यादि मौजूद थे।

इस अवसर पर अनिल विज ने कहा कि मीडिया वेलबिंग एसोशिएशन ने पत्रकारों के परिवारों की रक्षा व सुरक्षा के लिए दुर्घटना जीवन बीमा व टर्म इंश्योरेंस करवा एक सरहनीय कार्य किया है।पत्रकारों के कल्याण के लिए संस्था साकारात्मक कदम उठा रही है।
     हरियाणा के गृह व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा ज्ञानेंद्र बरतरिया का निधन उनके लिए व्यक्तिगत क्षति है। ज्ञानेंद्र बरतरीया के रूप में पत्रकार जगत के आसमान में एक ध्रुव तारा थे ! जो कि पत्रकार जगत का एक स्तंभ  थे! उनका जाना जहां पत्रकार जगत के लिए बहुत ही बड़ा आघात है वही निजी रूप में भी उनके लिए है यह  बहुत ही बड़ी भारी  क्षति है !जिसकी कमी कभी भी पूरी नहीं की जा सकती !जिन्होंने सदैव अपनी लेखनी और शब्दों के जरिए जहां पत्रकार जगत में नए-नए आयाम स्थापित किए वहीं उनकी लेखनी से देश और देशवासियों के लिए एक प्रेरणा स्रोत रही!ज्ञानेंद्र पत्रकार होने के नाते नाते उनके निजी मित्र भी थे !
    विज ने कहा कि पत्रकार जगत के साथ-साथ ज्ञानेंद्र का जाना उनके लिए एक पारिवारिक सदस्य के जाने जैसा है! ज्ञानेंद्र पत्रकारिता का क्षेत्र मे इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में  ए टू जेड चैनल के न्यूज़ हेड,एम एच न्यूज़ चैनल के न्यूज़ हेड, प्रसार भारती के सलाहकार व मौजूदा तौर पर  पाचाजन्य के कार्यकारी संपादक के तौर पर भी कार्य कर रहे थे! इसके अलावा उन्होंने प्रिंट मीडिया के कई बड़े संस्थानों में काम किया।
जिसके चलते पूर्व  केंद्रीय मंत्री दिवंगत अरुण जेटली से भी उनके गहरे निजी रिश्ते थे! इसके अलावा आरएसएस और भाजपा के वरिष्ठ राष्ट्रीय नेताओं से भी उनके निजी और मधुर संबंध  थे।
एसोसिएशन समय-समय पर दुर्घटना मृत्यु बीमा और टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी के लाभ पत्रकारों को देती रही है। प्रदेशभर में हजारों की संख्या इस संगठन के सदस्यों की है। 
     एम डब्ल्यु बी उत्तर भारत के अध्यक्ष चन्द्र शेखर धरणी ने बताया कि स्वर्गीय ज्ञानेंद्र भरतरिया के टर्म इन्श्योरेंस दिलवाने में इन्श्योरेंस एजेंट राजीव व आयुष  द्वारा करवाई तात्विक कार्यवाही के चलते यह क्लेम मृत्यु के चन्द दिनों बाद उनके परिवार को मिल सका।धरणी ने कहा कि एमडब्ल्यूबी हरियाणा में स्वर्गीय ज्ञानेंद्र भरतरिया के नाम से पत्रकारों के लिए एक अवार्ड प्रतिवर्ष शुरू करेगी।उन्होंने मीडिया में रहते ज्ञानेन्द्र भरतरिया द्वारा पँजाब के नशे के खिलाफ एक टी वी चैनल पर 100 से अधिक एपिसोड व स्टिंग ऑपरेशन चलाने की बात का भी जिक्र किया।

Tags

Share this story