Haryana Electric Buses: पंचकूला और करनाल में सिटी बस सेवा का हुआ शुभारंभ

₹64.73
Haryana Electric Buses: City bus service started in Panchkula and Karnal
Haryana Electric Buses: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज पंचकूला और करनाल के लिए इलेक्ट्रिक सिटी बस सेवा का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर पहले सात दिन इलेक्ट्रिक सिटी बस सेवा मुफ्त करने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम को वर्चुअली सम्बोधित करते हुए कहा कि आज महाशिवरात्रि पर्व है, यह कोशिश की जाए कि आज इलेक्ट्रिक सिटी बसें शहर के शिव मंदिरों के पास से होकर गुजरें ताकि श्रद्धालुओं को भी इसका फायदा मिल सके। मुख्यमंत्री ने पंचकूला और करनाल  के लोगों को सिटी बस सेवा आरंभ होने पर शुभकामनाएं और बधाई  भी दी।  

इस अवसर पर पंचकूला से हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता और मेयर श्री कुलभूषण गोयल और करनाल से सांसद श्री संजय भाटिया, विधायक श्री राम कुमार कश्यप भी वर्चुअल माध्यम से जुड़े।  

पंचकूला और करनाल में फिलहाल  इलेक्ट्रिक सिटी बस सेवा में 5-5 बसों को शामिल किया गया है। शीघ्र ही अन्य बसों को भी बेड़े में शामिल किया जाएगा। 45  सीटर इन इलेक्ट्रिक बसों के लिये पहले 5 किलोमीटर तक दस रुपये किराया निर्धारित किया गया है। उसके बाद हर तीन किमी पर किराये में 5 रुपये की वृद्धि होगी। सिटी बस सेवा का रूट भी शहर के लोगों की मांग व आवश्यकता को ध्यान में रखकर तैयार किया जाएगा। शहर के साथ लगते कस्बों में सिटी बस सेवा का चरणबद्ध तरीके से विस्तार किया जाएगा। अभी तक 375 बसें खरीदी गई हैं।  

श्री मनोहर लाल ने बताया कि इससे पहले यह सुविधा पानीपत और यमुनानगर में आरम्भ की जा चुकी है। आज पंचकूला और करनाल  में इलेक्ट्रिक सिटी बस सेवा की शुरुआत  के बाद अंबाला, सोनीपत, रेवाड़ी, रोहतक और हिसार सहित पांच शहरों में भी जल्द ही इलेक्ट्रिक सिटी बस सेवा शुरू कर दी जाएगी । उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने  अपने वर्ष- 2023-2024 के बजट अभिभाषण के दौरान घोषणा की थी कि प्रदेश के 9 नगर निगमों और रेवाड़ी शहर में सिटी बस सेवा शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा की वर्तमान में रोडवेज के बेड़े को 3083 से बढाकर 4651 किया गया है। साथ ही किलोमीटर स्कीम के तहत 562 बसें चलाई जा रहीं हैं।  

नई लॉन्च की गई इलेक्ट्रिक बस सेवा एक शून्य-उत्सर्जन वाहन है जिसके अपने संचालन के 10 वर्षों में लगभग 4,20,000 लीटर डीजल की बचत होगी । इससे न केवल प्रदेश के लोगों को सुगम परिवहन का लाभ मिलेगा बल्कि पर्यावरण प्रदूषण को भी कम करने में मदद मिलेगी।  ये बसें तेजी से चार्ज होने वाली लिथियम-आयन बैटरी द्वारा संचालित हैं और रियल टाइम पैसेंजर इंफॉर्मेशन सिस्टम (पीआईएस), आपातकालीन स्थिति के लिए पैनिक बटन, वाहन स्थान और ट्रैकिंग सिस्टम, सीसीटीवी कैमरे, पब्लिक एड्रेस सिस्टम, स्टॉप रिक्वेस्ट बटन, फायर डिटेक्शन और अलार्म  जैसी सभी आधुनिक सुविधाओं से लैस हैं। इलैक्ट्रिक बस निर्माता जेबीएम ऑटो द्वारा इन बसों की आपूर्ति की गई है।  

अत्याधुनिक, वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसों के बेड़े के साथ, 12 वर्षों से अधिक समय की 2450 करोड़ रुपये की यह परियोजना प्रदूषण रहित पर्यावरण की दिशा में एक बड़ा कदम है।

इस अवसर पर  परिवहन विभाग के प्रधान सचिव श्री नवदीप विर्क सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

Tags

Share this story