Haryana News: हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने वन मित्र योजना और पोर्टल का भी किया शुभारंभ

₹64.73
Haryana News: हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने वन मित्र योजना और पोर्टल का भी किया शुभारंभ
Haryana News: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में पिछले साढ़े 9 वर्षों में युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने के लिए राज्य सरकार द्वारा अथक प्रयास किए गए हैं और मिशन मेरिट के तहत बिना पर्ची – बिना खर्ची के युवाओं को सरकारी नौकरियां दी गई व निजी क्षेत्र में भी बड़ी संख्या में रोजगार उपलब्ध करवाए गए हैं। इसी कड़ी में रोजगार के और अवसर उपलब्ध करवाने के लिए राज्य सरकार ने मिशन @ 60,000 की शुरुआत की है और युवा इंजीनियरों को बड़ा तोहफा देते हुए मुख्यमंत्री ने आज सक्षम ठेकेदार युवा स्कीम पोर्टल का शुभारंभ किया है। इसके तहत सरकार द्वारा इंजीनियरिंग में डिप्लोमा एवं डिग्री धारक 10,000 युवाओं को 3 महीने का विशेष प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। सरकार की इस पहल से युवाओं के लिए स्वरोजगार के नए अवसर उपलब्ध होंगे।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल आज यहां प्रेस वार्ता को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर पर्यावरण, वन एवं वन्य जीवन मंत्री श्री कंवर पाल मौजूद रहे।
मनोहर लाल ने कहा कि इच्छुक योग्य युवाओं के रजिस्ट्रेशन के लिए एक पोर्टल बनाया है। आज से इस पोर्टल की शुरुआत की गई है। युवाओं द्वारा सीईटी परीक्षा पास की होनी चाहिए। प्रशिक्षण पूरा करने के उपरांत इन युवाओं को प्रमाण पत्र भी प्रदान किया जाएगा, जिसके आधार पर ये युवा सरकार के विभिन्न विभागों एवं पंचायतों के 25 लाख रुपए तक के निर्माण कार्य प्राथमिकता के आधार पर प्राप्त कर सकेंगे।
उन्होंने कहा कि स्वरोजगार स्थापित करने के इच्छुक प्रशिक्षित युवाओं को एक वर्ष की अवधि के लिए 3 लाख रुपए तक का ब्याज रहित ऋण भी उपलब्ध करवाया जायेगा। इस पहल से युवाओं को स्वरोजगार के नए अवसर मिलेंगे व यह योजना युवाओं को स्वरोजगार प्रदान करने में मील का पत्थर साबित होगी।
वन मित्र योजना और पोर्टल का भी किया शुभारंभ, वन मित्रों को 4 साल तक पौधों की देखभाल के लिए मिलेगी प्रोत्साहन राशि
मुख्यमंत्री ने गैर वन भूमि पर वृक्षारोपण गतिविधियों में सामुदायिक भागीदारी को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से वन मित्र योजना व वन मित्र पोर्टल की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि वन मित्र योजना भी मिशन @ 60,000 का ही हिस्सा है। वन मित्र बनने के लिए 1.80 लाख रुपये वार्षिक से कम पारिवारिक आय वाले परिवारों के सदस्य पोर्टल पर पंजीकरण करा सकेंगे। प्रत्येक वनमित्र को पौधे के रखरखाव के मुताबिक मानदेय मिलेगा।

इस योजना का उद्देश्य राज्य भर में वन क्षेत्र को बढ़ाने में स्थानीय आमजन को सीधे तौर पर शामिल करना, वृक्षारोपण की उत्तरजीविता दर में वृद्धि सुनिश्चित करना और गैर वन भूमि पर वृक्षारोपण को बढ़ावा देना है। अभी प्रत्येक वनमित्र द्वारा अधिकतम 1000 पौधे लगाने की सीमा तय की गई है। 18 से 60 वर्ष तक की आयु का कोई भी व्यक्ति वन मित्र बन सकेगा।

योजना के तहत प्रथम चरण में 7500 वन मित्रों का चयन पोर्टल के माध्यम से किया जाएगा। वनमित्र अपने गांव, कस्बे या शहर में कहीं भी वृक्षारोपण के लिए गैर वन भूमि का चयन कर सकेगा। यदि रोपा गया पेड़ स्वयं वनमित्र की जमीन पर है तो उसे पेड़ का मालिक माना जाएगा। वनमित्र और भूमि मालिक के बीच समापन समझौते पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। इसके तहत मालिक कम से कम 10 वर्ष तक पेड़ नहीं काटेगा।

योजना के मुताबिक प्रथम वर्ष के फरवरी व मार्च महीने में वन मित्र का पंजीकरण व चयन करके उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा। पहले वर्ष में वन मित्रों को गड्ढों की जियो टैगिंग एवं फोटोग्राफ मोबाइल एप पर अपलोड करने पर प्रति खोदे गए गड्ढे पर 20 रुपये दिये जाएंगे। इसके बाद लगाये गये हर पौधे पर वन मित्रों को 30 रुपये दिये जाएंगे। वन मित्रों को वृक्षारोपण के रखरखाव और सुरक्षा के लिए 10 रुपये प्रति जीवित पौधा दिये जाएंगे। दूसरे वर्ष में प्रत्येक माह में 8 रुपये प्रति जीवित पौधा वन मित्रों को दिया जाएगा। तीसरे वर्ष में प्रत्येक माह में पांच रुपये प्रति जीवित पौधा और चौथे वर्ष में यह राशि तीन रुपये प्रति जीवित पौधा हो जाएगी। उन्होंने कहा कि यदि कोई वन मित्र पौधे की देखभाल बीच में छोड़ देता है, तो उस पौधे की देखभाल वन विभाग करेगा।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री वी उमाशंकर, बिजली निगमों के अध्यक्ष श्री पी के दास, सेवा विभाग के आयुक्त एवं सचिव श्री पंकज अग्रवाल, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के आयुक्त एवं सचिव श्री विकास गुप्ता, मुख्यमंत्री की अतिरिक्त प्रधान सचिव श्रीमती आशिमा बराड़, सूचना, लोक संपर्क, भाषा एवं संस्कृति विभाग के महानिदेशक श्री मनदीप सिंह बराड़, उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम के प्रबंध निदेशक डॉ साकेत कुमार, हरियाणा कौशल रोजगार निगम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अमित खत्री, मीडिया सचिव श्री प्रवीण आत्रेय, चीफ मीडिया कोऑर्डिनेटर श्री सुदेश कटारिया सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Tags

Share this story