Haryana Clerk Steno Pay: हरियाणा में क्लर्क और स्टेनो का बढ़ा पे स्केल, कर्मचारियों में नाराजगी बरकरार

₹64.73
हरियाणा में क्लर्क और स्टेनो का बढ़ा पे स्केल
 

Haryana Clerk Steno Pay: लंबे आंदोलन के बाद सरकार की ओर से एक कमेटी गठित करने के बाद ड्यूटी पर लौटे क्लर्क-स्टेनो के पे-लेवल में सरकार ने बदलाव कर दिया है। उन्हें फंक्शन पे-लेवल (एफपीएल)-2 से एफपीए-3 में शामिल कर दिया है। यानी अब ज्वाइनिंग के वक्त पे-लेवल 19,900 की बजाए 21,700 रुपए रहेगा। 

वित्त विभाग के आदेशों में कहा गया है एफपीएल-3 में तभी शामिल होंगे जब ज्वाइनिंग के बाद प्रोबेशन पीरियड में स्टेट एलिजिबिलिटी टेस्ट ऑफ कंप्यूटर (एसईटीसी) पास कर लेंगे। इसके अलावा सरकार ने 8 वर्ष पर पहली एसीपी और प्रमोशन न होने की सूरत में क्लर्क को 27 साल की सर्विस पर एक इंक्रीमेंट देने का प्रावधान किया है। 

हालांकि सरकार की ओर से आदेश जारी करने के बाद क्लकों में नाराजगी है। क्योंकि उनकी मांग पे-लेवल-34,400 रुपए करने की थी। इसलिए क्लर्क 12 फरवरी को जिला मुख्यालयों पर वित्त विभाग की ओर से जारी किए गए आदेशों की प्रतियां फूंकेंगे।

हरियाणा मिनिस्ट्रीयल स्टाफ एसोसिएशन के प्रांतीय प्रधान हितेंद्र सिहाग व महासचिव जगमेंद्र सिंह ने बताया कि भाजपा-जजपा के चुनावी घोषणा पत्र और 25 अगस्त 2014 के मंत्रीमंडल के फैसले अनुसार सातवें पे कमीशन में क्लर्क 35,400 का हकदार बनता है। जिसके लिए क्लर्क पिछले दो दशकों से आंदोलनरत भी है। सरकार के इस नोटिफिकेशन का प्रदेश भर में कार्यरत मिनिस्ट्रीयल स्टाफ कर्मियों में से किसी एक को भी एक पैसे का भी फायदा नहीं हुआ। सरकार ने सिर्फ धोखा किया है। मिनिस्ट्रीयल स्टाफ कर्मी अब चैन से नहीं बैठेंगे। 6 फरवरी की राष्ट्रव्यापी हड़ताल में और भी बड़े स्तर पर सरकार का विरोध जताने का फैसला लिया है। ऐसे चल रहा आंदोलन: वेतनमान बढ़ोत्तरी की मांग को लेकर पूर्ववर्ती सरकार के समय वर्ष 2012 में कुरुक्षेत्र में लगातार 477 दिनों तक आंदोलन कर डेरा डाले रखा। 2017 में पूर्व शिक्षा मंत्री के गृह जिला में भी 316 दिनों तक धरने पर रहे और अब 42 दिनों की हड़ताल की।

Tags

Share this story