Haryana Budget: किसान हितैषी, संतुलित, सर्वस्पर्शी और हरियाणा को आगे ले जाने वाला बजट : बिप्लब देब

₹64.73
Haryana Budget: किसान हितैषी, संतुलित, सर्वस्पर्शी और हरियाणा को आगे ले जाने वाला बजट : बिप्लब देब
Haryana Budget: हरियाणा के बजट पर भाजपा के प्रदेश प्रभारी बिप्लब कुमार देब ने कहा है कि केंद्र द्वारा गन्ना किसानों के लिए समर्थन मूल्य 25 प्रति क्विंटल बढ़ाने के बाद अब हरियाणा सरकार द्वारा किसानों को फसली ऋण से बड़ी राहत देने की घोषणा सिद्ध करती है कि केंद्र में मोदी सरकार व हरियाणा में मनोहर सरकार किसानों की चिंता करने वाली सरकार है। श्री देब ने यह भी कहा कि हरियाणा की जनता पर एक रुपए का भी नया टैक्स नहीं लगाना साबित करता है कि यह जनकल्याणकारी सरकार है। बजट को किसान हितैषी, संतुलित, सर्वस्पर्शी और हरियाणा को आगे ले जाने वाला बताते हुए बिप्लब देब ने मनोहरी बजट पेश करने पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल को बधाई भी दी है। 

भाजपा प्रदेश प्रभारी एवं त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने कहा कि लगभग एक लाख 90 हजार करोड़ का जीरो टैक्स बजट पेश कर मनोहरलाल ने एक बेहतर आर्थिक प्रबंधन का परिचय दिया है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के लिए बेहद गौरव का विषय है कि प्रति व्यक्ति आय के मामले में जहां हरियाणा राष्ट्रीय औसत से मीलों आगे हैं, वहीं प्रदेश की जीडीपी हमारी जनसंख्या के अनुपात में दो गुनी है, जो यह बताती है कि हरियाणा विकसित भारत के निर्माण में एक बेहतर योगदान दे रहा है।
बिप्लब देब ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री ने पैक्स को बढ़ावा देकर ग्रामीण क्षेत्रों में स्मृद्धि के द्वार खोलने का काम बजट में किया है। राज्य की विकास की गति तेजी से बढ सके, इसके लिए मुख्यमंत्री ने बजट में 9 हजार किलोमीटर लंबी सड़कों का सुधार और 300 किलोमीटर सड़कों को चौड़ा करने का लक्ष्य रखा जिससे राज्य का आधारभूत ढांचा मजबूत होगा तथा व्यापार को बढ़ावा मिलेगा। 
प्रभारी बिप्लब देब ने कहा कि हिसार में उड्डयन महाविद्यालय खोलने की घोषणा हिसार के लिए बड़ा तोहफा है। मुख्यमंत्री ने गुरुग्राम में हेली-हब शुरू करने और आठ जिलों में हेलीपैड के निर्माण के लिए प्रस्ताव रखा  जिससे हरियाणा में समानांतर विकास में तेजी आएगी। छात्रों और युवाओं का भी बजट में ध्यान रखा गया है। सरकार 60 हजार युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देकर समर्थन बनाएगी जोकि बहुत ही सराहनीय कदम है। श्री देब ने कहा कि  इस बजट में मुख्यमंत्री ने लवणीय और जल भराव वाली 62,000 एकड़ भूमि का सुधार करने का लक्ष्य रखा है ताकि खेती को बढ़ावा दिया जा सके। उपक्रम ‘दृश्या’ के माध्यम से ड्रोन संचालन के लिए 500 युवा किसानों को सरकार ट्रेनिंग देगी जिससे किसानी करना आसान होगा। वहीं महिला किसानों को भी ड्रोन ट्रेनिंग देकर महिला शक्ति को बढ़ावा देने का काम मनोहर लाल ने बजट मे प्रस्तुत किया है। 
बिप्लब देब ने कहा कि मनोहर लाल बजट में ग्रामीण विकास और समृद्धि को प्राथमिकता दी और इसके लिए 7,276.77 करोड़ रुपये आवंटित किया है। यह राशि पिछले वित्त वर्ष की अपेक्षा 17.11 प्रतिशत ज्यादा है। इससे ग्रामीण क्षेत्र तेजी से विकसित होंगे और लोगों को घर बैठे ही सरकार द्वारा दी जा रही मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध होंगी।
बिप्लब देब ने कहा कि मुख्यमंत्री ने वित्त वर्ष 2024-25 के लिए 1,89,876.61 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित है, जो वर्ष 2023-24 के 1,70,490.84 करोड़ रुपये के संशोधित अनुमानों से 11.37 प्रतिशत ज्यादा है।  वर्ष 2024-25 में सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों की भी पूंजीगत बुनियादी ढांचे के निर्माण पर 8,119.24 करोड़ रुपये की राशि खर्च करने की योजना है। कुल मिलाकर, इस वर्ष के लिए हमारा परिव्यय 63,539.49 करोड़ रुपये होने का अनुमान है। 
बिप्लब देब ने कहा कि 1,16,638.90 करोड़ रुपये की राजस्व प्राप्ति का अनुमान लगाया गया है, जिसमें 84,551.10 करोड़ रुपये का कर राजस्व और 9,243.46 करोड़ रुपये गैर-कर राजस्व शामिल है। केंद्रीय कर का हिस्सा 13,332.23 करोड़ रुपये है और केन्द्रीय अनुदान सहायता 9,512.11 करोड़ रुपये है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2023-24 में कृषि उत्पादन 8.1 प्रतिशत की दर से बढ़ा है, जो कि देश में सर्वाधिक में से एक है। उन्होंन कहा कि पराली जलाने की रोकथाम और प्रदूषण को कम करने की योजना के तहत, 14 लाख एकड़ के प्रबंधन के लिए 1 लाख 56 हजार किसानों ने पंजीकरण कराया और वर्ष 2023-24 के दौरान 139 करोड़ रुपये की प्रोत्साहन राशि किसानों को प्रदान की गई।

Tags

Share this story