Hariyali Teej 2020: हरियाली तीज पर मेहंदी लगाने का महत्व, जानें क्या होता है रतजगा !

Hariyali Teej 2020: हरियाली तीज पर मेहंदी लगाने का महत्व, जानें क्या होता है रतजगा !


सावन महीने का एक महत्वपूर्ण त्योहार तीज !
जानिए क्यों हरियाली तीज पर लगाई जाती है मेहंदी !
चंडीगढ़ (ब्यूरो ) :- 
 बरसात और सावन का महीना हो और तीज के त्यौहार की बात न हो ऐसा नहीं हो सकता.. है वर्त्तमान के समय को देखकर थोड़ा त्यौहार हल्दा हो सकता है.. बाजार के वो हलचल न हो लेकिन मनाया न जाए ऐसा नहीं हो सकता…  हरियाली तीज सावन महीने का एक महत्वपूर्ण त्योहार है. यह दिन सुहागिन स्त्रियों के लिए बहुत मायने रखता है. सावन महीने की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को हरियाली तीज मनाई जाती है।

 हरियाली तीज पर क्यों लगाते हैं मेहंदी हिंदू धर्म में हरियाली तीज और मेहंदी का विशेष महत्व बताया गया है. मान्यता अनुसार जो भी सुहागिन स्त्री, इस ख़ास दिन अपने हाथों में मेहंदी लगाती है, उसका दांपत्य जीवन समृद्ध बनता है. इसलिए ही इस दिन महिलाएं हाथों और पैरों में मेहंदी लगाने की परंपरा निभाना शुभ मानती हैं. माना गया है कि इस दिन विवाहित महिलाओं को, अपने दांपत्य जीवन में सौभाग्य प्राप्ति के लिए और कुंवारी महिलाओं को भगवान शिव की तरह ही वर प्राप्ति के लिए पूर्ण श्रृंगार करना चाहिए. इसमें मेहंदी को भी श्रृंगार का एक महत्वपूर्ण भाग बताया गया है, जिसके बिना श्रृंगार अधूरा माना जाता है. 

ऐसे में महिलाओं द्वारा अपने हाथों में मेहंदी लगाना, अपने पति के प्रति प्रेम और खुशहाली को दर्शाता है. हिंदू शास्त्रों अनुसार, जिस प्रकार मेहंदी का रंग हरा होता है, और वो रचने के बाद हाथों की सुंदरता में चार चांद लगाती है.. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *