हिमाचल में भारी बर्फबारी के बाद बढ़ी मुश्किलें, माइनस में पहुंचा तापमान

हिमाचल में भारी बर्फबारी के बाद बढ़ी मुश्किलें, माइनस में पहुंचा तापमान

प्रदेश के कुल्लू किन्नौर चंबा व लाहुल-स्पीति जिलों में तीन दिन हुई बर्फबारी से लोगों की दिक्कतें बरकरार हैैं।
शिमला,(संदीप सैनी)
आज प्रदेश के कुल्लू, किन्नौर, चंबा व लाहुल-स्पीति जिलों में तीन दिन हुई बर्फबारी से लोगों की दिक्कतें बरकरार हैैं। बर्फबारी प्रभावित क्षेत्रों में अब तक जिंदगी पटरी पर नहीं लौट पाई है। प्रदेश के निचले क्षेत्रों में धूप खिलने से लोगों को कड़ाके की ठंड से थोड़ी राहत मिली। डलहौजी, केलंग व कल्पा में न्यूनतम तापमान माइनस में चल रहा है। पहाड़ों की रानी शिमला सहित कुफरी व नारकंडा में रविवार को फिर हिमपात हुआ।

शिमला में दिन की शुरुआत खिली धूप से हुई। लेकिन दोपहर बाद अचानक बर्फबारी शुरू हो गई। रिज मैदान पर पर्यटकों ने बर्फ में मस्ती की। लेकिन बर्फबारी से पर्यटकों सहित शहरवासी घंटों तक ट्रैफिक जाम से भी जूझना पड़ा। प्रशासन बर्फ हटाने में नाकाम रहा और जाम बढ़ता गया। पर्यटकों को कुफरी न जाने की एडवाइजरी तक जारी करनी पड़ी। जाम की वजह से ढली से कुफरी पहुंचने में ही तीन से चार घंटे लग गए। कुफरी में करीब एक हजार से अधिक वाहन फंस गए हैं। राजधानी शिमला में दो इंच और कुफरी में तीन इंच बर्फबारी हुई।
प्रदेश के कुल्लू किन्नौर चंबा व लाहुल-स्पीति जिलों में तीन दिन हुई बर्फबारी से लोगों की दिक्कतें बरकरार हैैं।
तीन दिन हुई भारी बर्फबारी के बाद चौथे दिन रविवार को धूप खिलने के बावजूद लोगों की दिक्कतें बरकरार रहीं। प्रदेशभर में चार राष्ट्रीय राजमार्गों सहित 259 सड़कें बंद रही। 933 ट्रांसफार्मरों के खराब होने से कई क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति बाधित है। करीब 30 पेयजल योजनाएं प्रभावित हैं। पांगी क्षेत्र में 25 फीसद पेयजल योजनाएं बंद पड़ी हैं। शिमला जिले का डोडराक्वार शेष विश्व से कटा हुआ है।

चंबा के जोत में चार दिन से बर्फ में फंसे लोग रविवार को पैदल चुवाड़ी पहुंचे। डलहौजी शहर के आधे हिस्से में ही बिजली आपूर्ति बहाल हो पाई। कई क्षेत्रों में लोगों को अंधेरे में रातें काटनी पड़ रही हैैं। धर्मशाला के प्रमुख पर्यटन स्थल नड्डी के साथ लगते बल गांव में रविवार को 48 घंटे बाद बिजली आपूर्ति बहाल हुई। विभाग ने रविवार को चार जिलों में हिमखंड गिरने की चेतावनी जारी की थी, लेकिन कहीं से भी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *