हिमाचल: पुलिस ने की 38 करोड़ घोटाले जांच, ईडी को सौंपे दस्तावेज

 हिमाचल: पुलिस ने की 38 करोड़ घोटाले जांच, ईडी को सौंपे दस्तावेज

शिमला (ब्यूरो)-:पास पहुंच गया है। जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों ने इस मामले से जुड़े 90 फीसदी दस्तावेज चालान पेश करने के बाद ईडी को सौंप दिए हैं। ईडी ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सभा से 90 प्रतिशत दस्तावेज अपने पास लेकर शिमला में तीनमुख्य आरोपियों के खिलाफ मनी लॉड्रिंग का मामला दर्ज कर सभा में सभी प्रकार केवित्तीय मामलों की जांच शुरू कर दी है। सहायक पंजीयक सहकारी सभाएं बिलासपुर राकेशकुमार ने बताया कि मामले से जुड़े सभी दस्तावेज ईडी को सौंप दिए हैं। वहीं विभागअपने स्तर पर इसकी कार्रवाई कर रहा है। करीब 120 ऋणियों के खिलाफमामले दर्ज किए गए हैं। सभा में हुए करोड़ों रुपये के घोटाले उजागर होने के बादजहां थाना तलाई में धोखाधड़ी और जालसाजी करने पर दर्ज मामले की गहन छानबीन की जाचुकी है। वहीं सभा के लगभग दस हजार सदस्यों को अपनी जमा पूंजी मिलनेकी उम्मीद जगी है।  प्रवर्तन निदेशालय ईडी ने सभा तलाई से पत्र के माध्यम सेगत वर्षों में गलत ढंग से दिए गए ऋण और उनकी ऋणियों की सूची मांगी है कि पैसा सभाने किस आधार पर किस के माध्यम से और कहां दिया है। जिला पुलिस प्रशासन ने ईडी कोकेस से जुड़े सारे दस्तावेज सौंप दिए हैं। 14 मार्च 2019 को सभा के पहलेऑडिट से पता चला कि सभा के सचिव की ओर से 32,71,90,269.50 करोड़ रुपये कागबन किया है। बाद यह बढ़कर 38 करोड़ हो गए। सचिव को पद से हटा दिया गया था।इसी मामले में 15 जुलाई को सचिव की गिरफ्तारी की गई। 10 सितंबर कोतत्कालीन कमेटी समेत 13 लोग गिरफ्तार हुए। सभा की ओर से जिन लोगों औरसदस्यों को ऋण जारी किया जाता था और जो ऋण वापस नहीं करते थे।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *