हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने शराब घोटाले की जांच के लिए इन नामों की सिफारिश की

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने शराब घोटाले की जांच के लिए इन नामों की सिफारिश की

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज नेशराब के वेयरहाउस से शराब  की पेटियां चोरी होने के साथ-साथ करोड़ों की शराब तस्करी एसआईटी (Sit) मामले में तीन वरिष्ठ आईएएस अफसरों के नाम बतौर एसआईटी हैड प्रस्तावित कर दिए हैं। इन नामों में सबसे ऊपर हरियाणा काडर के सबसे चर्चित अधिकारी अशोक खेमका के अलावा एसीएस संजीव कौशल व वह टीसी गुप्ता का नाम शामिल है। विज ने साफ कर दिया है कि इस मामले में एसआईटी हरियाणा के अन्य जिलों में इसी तरह के मामलों की जांच पड़ताल भी करेगी। गृह मंत्री अनिल विज ने बताया कि हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह विभाग विजय वर्धन ने इस एसआईटी के लिए नाम सूचीबद्ध करके हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पास भेज दिए हैं।

विज ने बताया कि एसआईटी के गठन के साथ ही 1 माह के अंदर शराब घोटाले में रिपोर्ट देनी होगी। हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि हमने ऐसा ही टीमें वरिष्ठ आईएएस को इसका मुखिया इसके अलावा एडीजीपी पुलिस की ओर से सुभाष यादव रहेंगे। इसी तरह से हरियाणा आबकारी व कराधान विभाग की ओर से विजय सिंह अतिरिक्त आबकारी आयुक्त को शामिल किया गया है। 3 आईएएस अफसरों में से एक नाम पर मोहर लगने के साथ ही एसआईटी अपना काम शुरू कर देगी और एक माह में रिपोर्ट देनी होगी। विज ने बताया कि एसआईटी 1 अप्रैल 2019 से लेकर मार्च 2020 तक की जांच करेगी। ओवरऑल जांच का दायरा लॉक डाउन के दौरान हुई घटनाओं को लेकर भी रहेगा। फतेहाबाद समालखा खरखोदा सोनीपत सभी स्थानों पर एसआईटी इस तरह के मामलों की जांच करेगी। गृह मंत्री ने बताया कि इस एसआईटी में चर्चित और वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अशोक खेमका के अलावा हमने अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल वेटीसी गुप्ता का नाम प्रस्तावित किया है। कुल मिलाकर नामों की सूची चले जाने के बाद में सीएमओ से इस पर मुहर लगनी बाकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *