हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने मंगलवार को कोरोना महामारी को लेकर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से की बैठक

हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने मंगलवार को कोरोना महामारी को लेकर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से की बैठक

चंडीगढ़(भारतभूषण शर्मा)। हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने मंगलवार को कोरोना महामारी को लेकर हरियाणा कांग्रेस के सांसद, विधायकों, पूर्व प्रदेश अध्यक्षों, लोकसभा चुनाव के प्रत्याशियों व वरिष्ठ नेताओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से बैठक ली। बैठक में कांग्रेस विधायक दल के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा, सीडब्लयूसी मेंबर रणदीप सिंह सुरजेवाला, कुलदीप बिश्नोई, पूर्व कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी, सांसद दीपेंद्र हुड्डा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष फूलचंद मुलाना, पूर्व मंत्री अजय यादव, पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा, विधायकोंं में आफताब अहमद, बीबी बत्रा, राव दान सिंह, गीता भुक्कल, जगबीर सिंह मलिक, धर्म सिंह छोकर, सुरेंद्र पवार, सुभाष गांगुली, मम्मन खान, मोहम्मद इलियास, शकुंतला खटक, बीएल सैनी, नीरज शर्मा, बलबीर बाल्मीकि, शैली चौधरी, राजेंद्र सिंह जून, शमशेर गोगी, अमित सिहाग, चिरंजीव राव, रेनू बाला, वरुण चौधरी, शीशपाल केहरवाला, बलवीर, जयवीर वाल्मीकि, पूर्व सांसद शादी लाल बत्रा,श्रुति चौधरी, चरणजीत सिंह रोड़ी, डॉ सुशील इंदौरा, पूर्व सीपीएस रामकिशन गुर्जर, जयप्रकाश, बलबीर पाल शाह, वीरेंद्र सिंह राठौर, भव्य बिश्नोई, आशीष दुआ,आईटी टीम के चिराग पटनायक कपिल खेतरपाल, विक्रम दुहन मौजूद रहे। कुमारी सैलजा ने बैठक में पार्टी नेताओं के साथ कोरोना महामारी और इसके चलते लगे लॉकडाउन में प्रदेश की जनता को आ रही समस्याओं के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी द्वारा जिला और ब्लॉक स्तर पर उठाए जा रहे कदमों के बारे में भी चर्चा की। उन्होंने महामारी के खिलाफ और भी मजबूती से लड़ाई लड़ने और जरूरतमदों को और भी बेहतर तरीके से मदद प्रदान करने के लिए पार्टी नेताओं से सुझाव मांगे और ज्यादा से ज्यादा जरूरतमंद लोगों तक मदद पहुंचाने को भी कहा। इस दौरान पार्टी नेताओं ने कुमारी सैलजा को उनके क्षेत्रों में जनता को आ रही समस्याओं के बारे में भी अवगत कराया।

बैठक में किसानों को फसल कटाई- खरीद में आ रही समस्या का मुद्दा मुख्य रूप से नेताओं ने उठाया।

चर्चा के दौरान नेताओं ने बताया कि प्रदेश में फसल खरीद के लिए मंडियां तैयार नहीं है, किसानों को भंडारण की समस्या आ रही है, बोरियां उपलब्ध नहीं हो पा रही हैं। फसल कटाई के लिए मजदूर और मशीन उपलब्ध नहीं हो पा रही हैं। फसल खरीद में भी देरी हो रही है, जिससे किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसके साथ ही बेरोजगारी, प्रदेश की खस्ताहाल आर्थिक स्थिति, दिहाड़ीदार मजदूरों को आ रही परेशानी,गरीबों- मजदूरों को मुफ्त राशन ना मिलने,पीपीई किट-मास्क की कमी, सरकार द्वारा राहत कार्यों में कांग्रेस विधायको के सहयोग ना लेने जैसे कई मुद्दे उठाए गए। कांग्रेस नेताओं ने पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ़ सरकार की तर्ज पर प्रदेश के लोगों को राहत देने की मांग और विधवा, दिव्यंगों, बुजुर्गों को तीन महीने की पेंशन एकमुश्त देने की मांग की। इसके साथ ही तीन महीने के बिजली बिल माफ करने जैसे सुझाव भी रखे गए। इस दौरान यह सुझाव भी दिया गया कि प्रदेश में लॉकडाउन के कारण प्रदेश के उद्योग जगत पर पड़े असर को कम करने के लिए सरकार द्वारा बड़े स्तर पर एक आर्थिक रिकवरी रोड मैप बनाया जाना चाहिए। इसके अलावा यह सुझाव भी दिया गया कि प्रदेश में कर्मचारियों के वेतन से दस प्रतिशत काटने की बजाए मंत्रियों व मुख्यमंत्री के स्वैच्छिक कोष को दो साल के लिए बंद किया जाना चाहिए।

बीते माह बारिश व ओलावृष्टि से बर्बाद हुई फसलों की अभी तक गिरदावरी नहीं हुई है, उसके लिए राहत दी जाए। कालाबाजारी पर रोक लगाई जाए। सफाई कर्मचारियों को एक करोड़ का बीमा दिया जाए। सब्जियों के लिए ट्रांसपोर्ट के आवागमन में छूट दी जाए। कई नेताओं ने प्रदेश में बर्बाद हो रहे पोल्ट्री फार्म के मुद्दे को भी उठाया और इनके लिए राहत देने की मांग भी रखी। कई कांग्रेस नेताओं ने यह भी कहा कि जरूरतमंद लोगों को मदद पहुंचाने के लिए सरकार समाज सेवी संस्थाओं पर ही निर्भर है, सरकार नाम की कोई चीज नजर नहीं आ रही। बैठक में हरियाणा सरकार द्वारा शराब बिक्री को लेकर दिखाई जा रही तत्परता पर भी नेताओं ने चिंता जताई और कहा कि सरकार के ऐसे जनविरोधी फैसलों का पुरजोर तरीके से विरोध किया जाएगा। बैठक के दौरान कुमारी सैलजा ने कहा कि आज इस भयावह कोरोना महामारी के चलते हर वर्ग प्रभावित हुआ है। परंतु प्रदेश की सरकार लोगों को राहत देने के नाम पर सिर्फ हवा हवाई बातें कर रही है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार की नाकामी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि प्रदेश में कोरोना से जंग लड़ रहे योद्धाओं को इस महामारी से बचाव के बेहद ही आवश्यक सुरक्षा संसाधन भी उपलब्ध नहीं करवाए जा रहे हैं। प्रदेश में कोरोना संक्रमण टेस्ट भी बहुत ही धीमी गति से हो रहे हैं।

बीते 21 दिनों में गरीब, प्रवासी मजदूरों की प्रदेश में बेहद ही बुरी स्थिति हो गई है। इन लोगों को खाना और राशन भी सही ढंग से नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने कहा कि किसान वर्ग फसल कटाई और फसल खरीद में सरकार के नाकाफी इंतजामों से हो रही देरी से पूरी तरह से हताश और निराश है। प्रदेश सरकार द्वारा लगातार किसानों को प्रताड़ित किया जा रहा है। महामारी के दौरान भी किसानों पर नई-नई शर्तें थोपी जा रही हैं। पहले ही मंदी का सामना कर रहे व्यापारी वर्ग और उद्योगों की कोरोना महामारी और इसके चलते लगे लॉकडाउन ने कमर तोड़ कर रख दी है। लोगों को नौकरियों से निकला जा रहा है। इन उद्योगों में कार्यरत लोगों को वेतन नहीं मिल पा रहा है सबसे ज्यादा मजदूरों पर इसकी मार पड़ी है। यह लोग जितना रोजाना कमाते है उतना ही रोजाना खर्च कर देते है, इनके लिए समय बड़ा संकट खड़ा हो गया है सरकार द्वारा भी इन मजदूरों के लिए कोई ठोस राहत के इंतजाम नहीं किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन सबके बावजूद हरियाणा सरकार राहत देने के नाम पर सिर्फ झूठे ढोल पीट रही है। इस सरकार के दावे सिर्फ कागजों और बयानों तक ही सीमित होकर रह गए हैं। धरातल पर राहत नाम की कोई चीज नहीं आ रही है। कुमारी सैलजा ने बैठक में प्रदेश कांग्रेस द्वारा जनता की मदद के लिए उठाए जा रहे क़दमों के बारे में अवगत कराते हुए बताया कि हरियाणा कांग्रेस प्रत्येक जिला और ब्लॉक स्तर पर जरूरतमंद लोगों तक मदद पहुंचा रही है।

हरियाणा कांग्रेस द्वारा 180 ब्लॉकों और 22 जिलों में कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। जिनमें प्रत्येक पर एक-एक कोऑर्डिनेटर की नियुक्ति की है। प्रदेश कांग्रेस द्वारा पिछले 20 दिनों से हर जिले में प्रत्येक दिन 3 से 5 हजार राशन के पैकेट वितरित किए जा रहे हैं। पूरे प्रदेश में जरूरतमंद लोगों की मदद में जुटे कांग्रेस कार्यकर्ताओं के 2800 व्हाट्सएप ग्रुप्स, आठ हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं। प्रदेश में 28000 से ज्यादा मेडिकल किट, 1500 से ज्यादा पीपीई किट का वितरण किया जा चुका है। लाखों की संख्या में मास्क, सैनिटाइजर, साबुन लोगों में बांटे गए हैं। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला और ब्लाक स्तर पर उठाए जा रहे कदमों के बारे में प्रतिदिन फीडबैक लिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि उन्होंने खुद हरियाणा सरकार को 6 पत्र लिखे हैं जिनमें कई सुझाव हरियाणा सरकार को उनकी तरफ से दिए गए हैं। जिन में से कई सुझावों पर हरियाणा सरकार ने अमल भी किया है। कुमारी सैलजा ने कहा कि हम सभी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जी और हमारे आदरणीय नेता श्री राहुल गांधी जी से प्रेरणा लेकर संकट की इस घड़ी में परेशानियों का सामना कर रहे लोगों तक ज्यादा से ज्यादा मदद पहुंचाते हुए उन्हें भरोसा दिलाएं कि वह अकेले नहीं है, पूरी कांग्रेस पार्टी उनके साथ खड़ी है।

Published By: Pooja Saini

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *