शहीद पथ के पास 55 एकड़ में बनेगा नया ‘हजरतगंज’, सेंट्रल बिजनेस डिस्टिक्ट कहलाएगा

शहीद पथ के पास 55 एकड़ में बनेगा नया 'हजरतगंज', सेंट्रल बिजनेस डिस्टिक्ट कहलाएगा


लखनऊ(Bharat9): एलडीए शान-ए-अवध कनॉट प्लेस की बची हुई 55 एकड़ जमीन पर नया हजरतगंज बनाएगा। कंसलटेंट की तलाश की जा रही है, जो कि इसका पूरा स्वरूप तैयार करेगा। इसके बाद निजी क्षेत्र में आवंटन करके नया हजरतगंज गुलजार किया जाएगा। इस संबंध में कंसलटेंट के प्रस्तावों पर एलडीए बहुत जल्द चर्चा करेगा। प्राधिकरण अगले डेढ़ साल में नया हजरतगंज बाजार विकसित कर देगा।

शहीद पथ पर शान-ए-अवध कनॉट प्लेस योजना का प्रथम चरण एलडीए ने 30 एकड़ में विकसित किया था। जिसकी नीलामी करके एलडीए ने निजी कंपनी को बेच दिया। ये कंपनी ही अब शान ए अवध का संचालन कर रही है। अब अगला चरण यहां नया हजरतगंज बसाने का होगा। जिस पर सहमति बन चुकी है। प्राधिकरण उपाध्यक्ष प्रभु एन सिंह ने बताया कि शान ए अवध का पहला चरण पूरा हो चुका है। हमारे लिए अब दूसरे चरण की बारी है। इस बार नया हजरतगंज विकसित करने की तैयारी है। दो सौ ज्यादा साल पुराने लखनवी शान वाले इस बाजार का नया नजारा हम गोमती पार रहने वालों को भी दिखाएंगे। शहीद पथ पर शान ए अवध के पीछे हमारे पास 55 एकड़ भूमि बची हुई है। इस भूमि का उपयोग नया गंज बसाने के लिए किया जाएगा। जल्द ही कार्ययोजना जमीनी रूप ले लेगी।

सेंट्रल बिजनेस डिस्टिक्ट का होगा हिस्सा : मास्टर प्लान में ये क्षेत्र सेंट्रल बिजनेस डिस्टिक्ट के तौर पर दर्ज है। सेंट्रल बिजनेस डिस्टिक्ट वह जगह होती है जहां चारों ओर बड़े कारपोरेट हाउस के दफ्तर, बड़े होटल और अन्य व्यवसायिक संस्थान खोले जाते हैं। इससे पहले विभूतिखंड को सेंट्रल बिजनेस डिस्टिक्ट में शामिल किया जा चुका है। आइआइएम रोड पर भी एक सीबीडी का निर्माण किया जाएगा।

लखनऊ की शान है गंज
नवाब नसीरुद्दीन हैदर ने 1827 में चाइना बाजार और कप्तान बाजार को मिलाकर हजरतगंज की स्थापना की थी। कैसरबाग, लालबाग और दारुलशफा के साथ ही छोटी छतर मंजिल, तारावाली कोठी, दरगाह और सावन भादो महल (वर्तमान में चिड़िया घर बना है) को शामिल किया गया। 1842 में नवाब अमजद अली खान ने इसका नाम आलिया-ए-हजरत के नाम से हजरतगंज कर दिया। प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के बाद अंग्रेजों ने लंदन क्वीन स्ट्रीट के तर्ज पर नवाबी कालीन भवन की डिजाइन में बदलाव कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *