यूपी के बाराबंकी में फर्जी दस्तावेज पर बीमा कराए गए 191 वाहन सहित तीन आरोपी चढ़े पुलिस के हथ्थे

यूपी के बाराबंकी में फर्जी दस्तावेज पर बीमा कराए गए 191 वाहन सहित तीन आरोपी चढ़े पुलिस के हथ्थे

बाराबंकी -: (दीपक सिंह ) जिले में फर्जी दस्तावेज पर वाहन फाइनेंस करा कर उसे लोगों को कम दाम पर बेचने और फाइनेंस कंपनी को चपत लगाने वाले गैंग के तीन सक्रिय सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनकी गिरफ्तारी बुधवार की दोपहर चन्दौली नहर पुलिया के पास से हुई। फर्जी तरीके से बेचे गए 191 वाहनों को बरामद किया है। गिरोह का सरगना अभी पुलिस पकड़ से दूर है।

जैदपुर थाना पुलिस द्वारा पकड़े गए आरोपियों ने अपना नाम व पता मो. सहीम निवासी मोहल्ला पीरबटावन थाना कोतवाली नगर, फिरोज उर्फ शानू निवासी ग्राम मचौची थाना जैदपुर व सुहेल अहमद निवासी मोहल्ला नबीगंज थाना कोतवाली नगर बताया है। पुलिस ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया। पुलिस ने पकड़े गए युवकों की निशानदेही पर फर्जी कागजात पर फाइनेंस कराए गए 191 वाहनों को भी बरामद किया है। इनमें नौ लग्जरी कारें हैं। इनकी कीमत करीब ढाई करोड़ रुपये बताई जा रही है।

बाराबंकी पुलिस अधीक्षक डॉ अरविंद चतुर्वेदी ने मीडिया को बताया कि पकड़े गए ठगों ने पूछताछ में बताया कि वह सभी एजेंसी से फाइनेंस कराने वाले ग्राहकों के दस्तावेज में फोटों व अन्य कागजात बदल कर लखनऊ की विभिन्न एजेंसियों से वाहन को फाइनेंस कराते थे। लखनऊ के आरटीओ कार्यालय में गाड़ी का पंजीकरण करा कर उसे लोगों में सस्ते दामों पर बेच देते थे। लोगों को बताते थे कि मिलिट्री कैंटीन से गाड़ी निकलवाई हैं। इसलिए सस्ते में बेच रहे हैं। एक साल बाद वाहन उनके नाम पर ट्रांसफर हो जाएगा। फाइनेंस कंपनी को किस्त नहीं चुकाते थे। ठगों ने बताया कि गिरोह का सरगना रवि मसीह निवासी ग्राम गांधी ग्राम थाना पीजीआई लखनऊ है। उसने गिरोह के सदस्य सुरेन्द्र निवासी ग्राम बरैया थाना जैदपुर व कफील अहमद निवासी टेसुवा सलेमचक थाना जैदपुर के नाम भी बताए। पुलिस तीनों संदिग्धों की तलाश में जुटी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *