यमुना नदी लबालब, अब चार ग्रुप में बहेंगी नहरें, जाने क्या है नया शेड्यूल

यमुना नदी लबालब, अब चार ग्रुप में बहेंगी नहरें, जाने क्या है नया शेड्यूल

हरियाणा : (ब्यूरो)  हरियाणा में यमुना का जलस्तर सही होने की वजह से सिंचाई विभाग ने प्रदेश की नहरों को पांच की बजाए चार ग्रुपों में चलाने का फैसला लिया है। विभाग ने यह फैसला 15 मई से ही लागू करने का निर्णय लिया है। सबसे पहले बुटाना ग्रुप से शुरू किया जा रहा है। जिसकी वजह से सुंदर ग्रुप में एक सप्ताह (23 मई) को पानी मिलेगा। विभाग ने नई व्यवस्था लागू करने के निर्देश जारी कर दिए है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सिंचाई विभाग के आला अधिकारियों ने अब प्रदेश की नहरों का नया शेड्यूल जारी किया है। फिलहाल भालौट ग्रुप में पानी चलाया जा रहा है जो कि 14 मई तक जारी रहेगा। उसके बाद 15 मई को सुंदरग्रुप की बजाए इस बार बुटाना व अंटा ग्रुप में एक साथ पानी छोड़ा जाएगा। हालांकि अब से पहले बुटाना ग्रुप में सुंदरग्रुप के बाद ही पानी छोड़ा जाता रहा था,लेकिन नई व्यवस्था के तहत अब सुंदर की बजाए पहले बुटाना व अंटा ग्रुप में पानी छोड़ा जाएगा। इस ग्रुप में 15 मई को पानी छोड़ा जाएगा और 22 तक चलाया जाएगा। उसके बाद 23 मई को सुंदर ग्रुप में पानी छोड़ा जाएगा। खास बात ये रहेगी कि इस बार सुंदरग्रुप में पानी मूनक की बजाए मोहला हैड से छोड़ा जाना है जो कि समय पर ही पानी पहुंच जाएगा। 31 मई को जेएलएन ग्रुप में पानी छ़ोड़ा जाएगा। जिसके तहत 7 जून तक पानी चलेगा। विभाग ने इस बारे में सभी अधिकारियों को दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए है।

जाता है कि जिस वक्त सुंदरग्रुप में मूनक से पानी छोड़ा जाता है तो करीब 349 बुर्जी चलकर पानी तालू हैड तक पहुंचता है। जिसमें 30 से 36 घंटे तक समय लग जाता है,लेकिन नई व्यवस्था के तहत मोहला हैड से पानी छोड़ा जाता है तो 206 बुर्जी पार करके ही पानी तालू हैड तक पहुंचता है । इसके लिए पानी को पहुंचने में कभी 20 से 24 घंटे का समय लगता है। इससे उक्त ग्रुप को पानी भी पूरा मिलेगा और समय पर भी पहुंच जाएगा। वैसे सुंदर ग्रुप को एक सप्ताह देरी से पानी जरूर मिल रहा है,लेकिन भविष्य में उक्त ग्रुप को फायदा होगा। बुटाना ग्रुप के साथ जुई फीडर में भी पानी सूत्र बताते है कि शहर के जलघरों तक पर्याप्त पानी पहुंचाने के मकसद से बुटाना ग्रुप के साथ जुई फीडर को चलाए जाने की योजना है । चूंकि जुई फीडर में पानी पहुंचने के साथ-साथ भिवानी के जलघरों में पानी पहुंचाया जा सकेगा। जिसके चलते शहर के बीच व बापोड़ा बाईपास स्थित जलघर में पानी पहुंच सकेगा। उसके बाद जुई फीडर एक सप्ताह सुंदरग्रुप के साथ भी बहेगी। जिसके बाद जलघरों में पीने के पानी की कोई समस्या नहीं रहेगी। पब्लिक हेल्थ व सिंचाई विभाग ने 17 मई को पहुंचने वाले पानी को जलघरों तक पहुंचाने की तैयारी पूरी कर ली है। पहले पांच ग्रुप थे सिंचाई विभाग के कार्यकारी अभियंता दलीप सिंह ने बताया कि प्रदेश की नहर अब पांच की बजाए चार ग्रुपों मंे चलाई जाएगी। जिसके चलते सुंदरग्रुप मंे एक सप्ताह देरी से पानी पहुंचेगा,जबकि जुई फीडर में बुटाना ग्रुप के साथ ही पानी छोड़ा जाएगा। ताकि भिवानी शहर व आसपास के इलाकों में स्थित जलघरों को पान से भरा जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *