बाराबंकी : पैसे निकालने गईं बुजुर्ग महिला के साथ अभद्रता, मैनेजर पर पासबुक फाड़कर गाली देने का आरोप

बाराबंकी : पैसे निकालने गईं बुजुर्ग महिला के साथ अभद्रता, मैनेजर पर पासबुक फाड़कर गाली देने का आरोप

बाराबंकी, उत्तर प्रदेश ( दीपक सिंह ) कोरोना वायरस महामारी कोविड 19  के चलते देशभर में लॉकडाउन चल रहा है. सरकार के सख्त आदेश है कि प्रशासन द्वारा जनता को हर संभव सहायता उपलब्ध कराई जाए. लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही कहती है, अधिकारी अपने रौब वाले रवैए को नहीं भुला पा रहे ? आए दिन कहीं ना कहीं से अभद्रता पूर्वक व्यवहार करने का मामला प्रकाश में आ ही जाता है. ताजा मामला बाराबंकी का है जहां वृद्ध महिला से ना सिर्फ बैंक मैनेजर द्वारा अभद्रता पूर्वक व्यवहार किया गया महिला की पासबुक भी फाड़ कर फेंक दी गई I

क्या है मामला I

मामला टिकैतनगर का हैं जहां क़स्बा इचौली की निवासिनी नूरजहाँ बानो कस्बा स्थित बैंक ऑफ़ इंडिया शाखा टिकैतनगर में पैसे निकालने के लिए आई और पासबुक लेकर मैनेजर सचिन कुमार के पास गई कहा साहब पैसा निकालवना है, आवश्यकता है तो मैनेजर ने मेरी पासबुक लेकर पासबुक चेक किया कहा कि तुम्हारा खाता बंद है फर्जी चली आती हो मेरा पासबुक फाड़कर नाली में फेंक दिया I

महिला को दी गालियां

पीड़ित महिला नूरजहां ने जब यह कहा कि मेरा पासबुक क्यों फाड़ दिया तो सचिन कुमार (बैंक मैनेजर) ने भद्दी भद्दी गालियाँ देते हुए बुजुर्ग महिला को धक्के मारकर बाहर भगा दिया वहीँ ग़रीब महिला ने बताया कि पढ़ी लिखी न होने के कारण मुझे यह दंश झेलना पड़ा। जानकारी होने पर पत्रकारों ने जब मैनेजर से इस बारे में जानकारी लेनी चाहि तो मैनेजर आग बबूला होकर स्थानीय पत्रकारों से अभद्रता पूर्वक व्यवहार करते हुए कहा जो कर सकते हो करो जो खबर चला सकते हो चलाओ मेरा कुछ नहीं होने वाला पीड़ित महिला ने टिकैतनगर कोतवाली में लिखित प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है, वहीं जब इस संबंध में जानकारी करने के लिए थाना प्रभारी टिकैतनगर के सीयूजी नंबर को कई बार डायल किया गया तो उनका सीयूजी नंबर आउट ऑफ रीचवल आ रहा था जबकि थाना प्रभारियों के सीयूजी नंबर 24 घंटे चालू रहने चाहिए यह सरकार के सख्त आदेश है I

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *