बाराबंकी : चाइल्डलाइन की टीम बनी, मासूम बच्चों के लिए वरदान I

बाराबंकी : चाइल्डलाइन की टीम बनी, मासूम बच्चों के लिए वरदान I

बाराबंकी ,यूपी, { दीपक सिंह }  लॉक डाउन में प्रभावित बच्चों की त्वरित सहायता चाइल्ड लाइन 1098 बाराबंकी की टीम द्वारा लगातार की जा रही है, जहां चाइल्ड लाइन टीम द्वारा लगातार भोजन सामग्री चाइल्ड लाइन नम्बर 1098 पर फोन करने वाले जरूरतमंद बच्चों को पहुंचा रही है वहीं झुग्गी झोपड़ी और फेरी लगाकर जीवन यापन करने वाले परिवारों को कोविड-19 से बचाव की जानकारी के साथ ही बच्चों को साबुन, मास्क व खाने के लिए राशन दे रही है।

14 अप्रैल को चाइल्ड लाइन 1098 के निदेशक रत्नेश कुमार अपनी टीम के साथ बाराबंकी नगर के शिवाजी पुरम स्थित भिटारा पर झोपड़ी में रहने वाले 100 से अधिक बच्चों को डेटॉल साबुन, मास्क और बिस्कुट का वितरण किया तथा सामाजिक दूरी का पालन करने तथा घूमने न जाने के लिए जागरूक किया। निदेशक रत्नेश कुमार ने बताया कि अब तक चाइल्ड लाइन द्वारा 275 बच्चों को खाद्यान्न दिया जा चुका है, टीम द्वारा जोखिम क्षेत्र में पाए जा रहे बच्चों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए लिए जरूरी सामग्री – डेटॉल साबुन, मास्क सेनेटाइजर देकर उन्हें जागरूक किया जा रहा है।

जिला समन्वयक जियालाल ने बताया कि लॉक डाउन में राशन की मांग करने वाली फोन कॉल्स लगातार आ रही हैं जिन्हें चाइल्ड लाइन टीम मदद मांगने वाले बच्चों के घर घर जाकर राशन किट् 5 किलो, आटा चावल, एक एक किलो दाल, दलिया, नमक चीनी, सरसो तेल और पांच किलो आलू कुल लगभग 13 किलो राशन प्रति बच्चा दिया जा रहा है। झुग्गी झोपड़ी के बच्चों को साबुन, मास्क और बिस्कुट आदि के वितरण के समय चाइल्ड लाइन टीम सदस्य मनीष सिंह, विकास वर्मा, प्रदीप कुमार आदि लोगो ने कोरोना वायरस से बचाव की जानकारी और सामाजिक दूरी का पालन करने के लिए बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *