प्रदेश और केंद्र सरकार तक संदेश पहुंचाने के लिए प्राइवेट कोचिंग सेंटर के संचालक ने बस में किया ये काम !

प्रदेश और केंद्र सरकार तक संदेश पहुंचाने के लिए प्राइवेट कोचिंग सेंटर के संचालक ने बस में किया ये काम !

पिछले 4महीने से बंद पड़े है सभी कोचिंग सेंटर
हरियाणा रोडवेज 52 सवारियों के साथ चल सकती है
तो सरकार हमारे कोचिंग सेंटर क्यों नही खोल रही
कोचिंग सेंटर में एल समय मे 15 से 20 स्टूडेंट्स होते है
जब बस में कोरोना नही हो सकता तो हमारे कोचिंग सेंटर में कैसे कोरोना हो सकता !
जब सब कुछ खोल दिया तो हमारे कोचिंग सेंटर खोले सरकार।

यमुनानगर (सुमित ओबरॉय) :-
यमुनानगर में प्राइवेट बस बनी कोचिंग सेंटर। तस्वीरे यमुनानगर की है जहाँ एक कोचिंग सेंटर के संचालक ने बस को कोचिंग सेंटर बना कर उसमें कोचिंग क्लास लगा डाली। बस को कोचिंग सेंटर बनाने के पीछे उद्देश्य है कि सरकार तक ये सन्देश जाए कि जब हरियाणा रोडवेज की बस 52 सवारियों के साथ ,चल सकती है , तो कोचिंग सेंटर क्यों नहीं । उनकी मांग है की सरकार ने जब सब कुछ खोल दिया तो कोचिंग सेंटर भी खोले जाए। दिन ब दिन कोचिंग सेंटर्स संचालको की आर्थिक स्तिथि खराब हो रही है या सरकार सभी को कोई राहत पैकेज दे।

तस्वीरों में ये किसी बस स्टैंड का सीन नही है । दरअसल एक कोचिंग सेंटर के द्वारा सरकार तक सन्देश पहुंचाने के लिए एक अनोखी क्लास प्राइवेर बस में लगाई गई। बस के अंदर जाने से पहले स्टूडेंट्स के हाथ सेनेटाइज़ किये गए और उनकी थर्मल सकैनिंग की गई और फिर बस में पूरी क्लास लगाई गई । कोचिंग सेंटर संचालक संदीप बंसल ने बताया कि पिछले 4 महीने से सभी कोचिंग सेंटर्स बंद पड़े हैं , लॉकडाउन से अनलॉक में हम लोग पहुंच चुके हैं और धीरे-धीरे होटल जिम सब कुछ खोला जा चुका है लेकिन कोचिंग सेंटर्स नहीं खोले गए। अभी हाल ही में सरकार ने 52 सवारियों के साथ बसें भी चलानी शुरू कर दी है , जब वहां पर कोरोना नहीं फैल सकता तो हमारे कोचिंग सेंटर में तो केवल एक समय में 15 से 20 बच्चे बैठते हैं , इसीलिए हमने सरकार को जगाने के लिए आज एक प्राइवेट बस में उदाहरण के तौर पर एक क्लास बस में लगाई। ताकि सरकार तक हमारा यह संदेश पहुंचे और सरकार जल्द से जल्द हमारे कोचिंग सेंटर खोले, ताकि हमारी आर्थिक स्थिति भी सही हो ।और जो बच्चे हैं उनकी पढ़ाई भी खराब ना हो। अब देखना होगा कि बार-बार कोचिंग सेंटर्स के सरकार को कहने के बाद भी अब तक कोचिंग सेंटर्स नहीं खोले गए हैं ।अब देखना होगी सरकार कब तक इन कोचिंग सेंटर पर निर्णय लेती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *