पांच साल से गंदा पानी पिने को मजबूर है यहां के लोग, आखिर क्यो है मजबूर जानिए…

पांच साल से गंदा पानी पिने को मजबूर है यहां के लोग, आखिर क्यो है मजबूर जानिए...

गोहाना(सुनील जिंदल)। गोहाना के गांव भैंसवाल कला के रहने वाले अंतर्राष्ट्रीय पहलवान योगेश्वर दत्त के गांव के ग्रामीण इन दिनों गंदा पानी पिने को मजबूर है। ग्रामीणों का आरोप है की गांव में पानी पानी की डिगी के पानी इतना ख़राब हो चूका है की वो पिने लायक नहीं है। इतना ही नहीं पानी की डिगी की पिछले पांच सालो में एक बार भी सफाई नहीं करवाई गई, जिसके चलते पानी में काई जम गई है। काई के साथ-साथ पानी में घास भी उगी हुई है। पानी की सफाई नहीं होने से पानी के अंदर मछलिया भी मरी पड़ी है और ये ही पानी गांव में पिने के सप्लाई किया जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है की पानी की डिग्गी की सफाई के लिए कई बार गांव के सरपंच से लेकर कई बार अधिकारियो से भी लिखा जा चूका है, लेकिन कोई भी गांव की इस समस्या के और ध्यान नहीं दे रहा है। जिसके चलते ग्रामीणों को गन्दा पानी पिने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। अब ग्रामीण सरकार ने उनकी इस समस्या को जल्द दूर करने की मांग कर रहे है ।

ग्रामीणों ने बताया गांव में बनी पानी की डिगी में बने पानी के टेंको की सफाई पांच से छह साल पहले करवाई गई थी, लेकिन उसके बाद आज तक इनकी सफाई नहीं करवाई गई है। अधिकारी ऊपर से सफाई कर कागजो में इसकी सफाई दिखाकर सरकार को हर साल लाखो रुपए का चुना लगा रहे है। गांव से बीजेपी नेता व पहलवान योगेश्वेर दत्त भी उनके गांव के है। कई बार गांव के सरपंच से लेकर नेताओ से इसके बारे में लिखा जा चूका है, लेकिन कोई भी अधिकारी व् नेता इस और ध्यान नहीं दे रहा है। इन टेंको की समय पर सफाई नहीं होने से इनका पानी इतना गन्दा हो गया है, वो पिने लायक नहीं है पानी में सारा दिन स्मेल आती रहती है और पानी के अंदर गंदी भरी हुई है। गर्मी का सीजन शुरू हो गया है और जहां गोहाना में हर बार पब्लिक हेल्थ विभाग पीने के पानी की व्यवस्था को लेकर हर घर तक पानी पहुंचाने की बात करता है। लेकिन गोहाना के अंतर्गत अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के इलावा नेताओ का भी गड माने जाने वाला पांच हजार की आबादी वाला गांव भैसवाल में पिछले 5 साल से पानी की समस्या को दुरुस्त करवाने के लिए लगातार चक्कर काट रहे हैं, लेकिन लापरवाह अधिकारी सोते रहते हैं अब देखना ये है की गांव की इस समस्या का हल कब तक किया जाता है।

Published By: Pooja Saini

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *