नववर्ष का जश्न मनाने वाले पर्यटकों को इस बार बर्फबारी देखने का मौका मिलेगा जिससे जश्न का मजा दोगुना हो जाएगा।

नववर्ष का जश्न मनाने वाले पर्यटकों को इस बार बर्फबारी देखने का मौका मिलेगा जिससे जश्न का मजा दोगुना हो जाएगा।

शिमला,(भारत 9)। हिमाचल प्रदेश में ठंड का कहर जारी है। शुक्रवार को ऊना और धर्मशाला का तापमान शिमला से भी कम दर्ज किया गया। धर्मशाला में न्यूनतम व अधिकतम तापमान नीचे गिर गया। ऊना में शिमला की अपेक्षा अधिकतम तापमान में कमी दर्ज की गई। शिमला का अधिकतम तापमान 14.4 डिग्री जबकि ऊना का 12.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। मैदानी क्षेत्रों में कोहरे की वजह से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। मौसम विभाग ने शुक्रवार को ऊना, कांगड़ा, मंडी, सोलन और सिरमौर में घने कोहरे के बीच कड़ाके की ठंड पड़ने की चेतावनी जारी की थी।

केलंग, कल्पा, मनाली, कुफरी, सुंदरनगर और सोलन में तापमान जमाव बिंदू से नीचे दर्ज किया गया। उत्तरी हिमालय से बर्फीली हवाएं चलने से लोगों की दिक्कतें बढ़ी हैं। मौसम विभाग ने 31 दिसंबर से दो जनवरी तक प्रदेश के ऊंचे क्षेत्रों में हिमपात और निचले इलाकों में बारिश होने की संभावना जताई है। प्रदेश के मैदानी क्षेत्रों में शुक्रवार सुबह 11 बजे के बाद सूर्यदेव के दर्शन हुए। बाद में धूप खिले रहने से कुछ राहत अवश्य मिली, लेकिन सुबह और शाम कड़ाके की ठंड पड़ रही है।


गौरतलब है कि हिमाचल में मौसम के तीखे तेवर अभी कम नहीं होने वाले, मौसम विभाग ने इससे पहले भी यहां के पांच जिलों में घने कोहरे के साथ कड़ाके की ठंड की चेतावनी दी थी। जिसे लेकर यलो अलर्ट भी जारी किया गया था। मौसम विभाग की ओर से लोगों के घने कोहरे से बचने की सलाह दी गयी है।

हिमाचल में लगातार बढ़ रहे ठंड के प्रकोप के कारण कई जगह का तापमान जमाव बिंदू से भी नीचे पहुंच चुका है। इस वजह से इन जगहों पर कड़ाके की ठंड पड़ रही है। उत्तरी हिमालय से बर्फीली हवा चलने की वजह से तापमान जमाव बिंदू से भी नीचे पहुंच गया है। मौसम विभाग ने भी आने वाले दो दिनों में भारी बर्फबारी और बारिश की संभावना जतायी है। लगातार गिर रहे तापमान से वहां के स्थानीय निवासियों की समस्याये जरूर बढ़ गयी हैं, लेकिन पर्यटकों की खुशी का ठिकाना नहीं है। मौसम विभाग के अनुमान से साफ जाहिर है कि नववर्ष का जश्न मनाने वाले पर्यटकों को इस बार बर्फबारी देखने का मौका मिलेगा जिससे जश्न का मजा दोगुना हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *