नक्सल प्रभावित क्षेत्र के होनहारों बच्चो ने नीट और आईआईटी परीक्षाओं में लहराया परचम!

नक्सल प्रभावित क्षेत्र के होनहारों बच्चो ने नीट और आईआईटी परीक्षाओं में लहराया परचम!

नक्सल प्रभावित क्षेत्र के होनहारों बच्चो ने नीट और आईआईटी परीक्षाओं में लहराया परचम

कोंडागाँव (ब्यूरो): जिले में लक्ष्य आवासीय प्रशिक्षण केन्द्र स्थानीय प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं के लिए वरदान साबित हो रहा है। खास तौर पर ऐसे छात्र जो बड़े शहरों के महंगे कोचिंग संस्थानों का खर्च वहन नहीं कर सकते उन्हें मुख्यालय में ही उच्च स्तरीय अध्ययन-अध्यापन की सुविधा और माहौल देकर प्रशासन ने एक सार्थक पहल की, जिसके सकारात्मक परिणाम भी सामने आने लगे हैं।
जिले में संचालित निःशुल्क कोचिंग संस्थान लक्ष्य (नीट-आईआईटी) आवासीय प्रशिक्षण केन्द्र से वर्ष 2019-20 में आयोजित नीट परीक्षा 27 छात्र-छात्राओं ने उत्तीर्ण कर अपनी सफलता दर्ज कराई है। बीते दो वर्षो में इस संस्थान के माध्यम से इन प्रतिष्ठित परीक्षाओं में शामिल होने हेतु बेहतर मार्गदर्शन एवं परीक्षा पूर्व तैयारी हेतु कक्षाएं प्रारंभ की गई है। इसके लिए प्रदेश के अन्य बड़े शहरों में संचालित कोचिंग संस्थानों के विषय विशेषज्ञ, शिक्षकों की मदद ली जाती है। जिले के दूरस्थ क्षेत्रों के होनहार छात्रों के लिए निःशुल्क आवासीय प्रशिक्षण मिल रहा है।
कार्यालय आदिवासी विकास द्वारा प्राप्त जानकारी अनुसार इस वर्ष इस आवासीय प्रशिक्षण केन्द्र में 40 छात्र एवं 23 छात्राओं सहित कुल 63 विद्यार्थियों को नीट/ आईआईटी परीक्षाओं के लिए कोचिंग दिया गया था। जिसमें 20 छात्र और 7 छात्राओं सहित 27 विद्यार्थियों ने परीक्षा हेतु उत्तीर्ण किया है। दूरभाष पर चर्चा के दौरान इस परीक्षा में उत्तीर्ण फरसगांव निवासी छात्र हेमंत हिड़को ने बताया कि इस परीक्षा हेतु यह उनका दूसरा प्रयास था। पिछले वर्ष उन्हें रसायन और भौतिकी विषयों की पढ़ाई में काफी दिक्कतें आई थी, परंतु इस वर्ष कोचिंग संस्थान के शिक्षकों की सहायता से उनकी यह समस्या दूर हुई और उन्हें एसटी वर्ग में 437 प्राप्तांक मिले।
उन्होंने यह भी उम्मीद जताया कि इस प्रदर्शन के आधार पर उन्हें संभवतः एमबीबीएस में दाखिला मिल सकेगा। इसी तरह मुख्यालय निवासी एक अन्य छात्र अक्षय राजपुत कुल प्राप्तांक 545ने भी अपने विचार साझा करते हुए बताया कि परीक्षा हेतु उनका यह तीसरा प्रयास था और इस कोचिंग के माध्यम से उन्हें स्वयं को सफल साबित करने में मदद मिली। इसी प्रकार विकासखंड माकड़ी अंतर्गत ग्राम बरकई निवासी धनेश्वर नेताम कुल प्राप्तांक 286, ग्राम टेलकाबोड के विकास मटीयारा कुल प्राप्तांक 441, पूर्वी बोरगांव निवासी कुमारी मनीषा साहू कुल प्राप्तांक 387, लिलेश देहारी कुल प्राप्तांक 362, ग्राम भाटपाल की शिवानी कश्यप कुल प्राप्तांक 315 है। इन सभी विद्यार्थियों का मानना है ऐसे संस्थान निर्धन एवं जरूरतमंद विद्यार्थियों के लिए बेहद उपयोगी सिद्ध हो रहे हैं।
वर्ष 2018-19 में इस केन्द्र से नीट परीक्षा में 3 छात्रों का एमबीएस, दंत चिकित्सा एवं पशुचिकित्सा 1-1 तथा 7 विद्यार्थी का चयन नर्सिंग क्षेत्र में इसके अलावा एक अन्य छात्र विष्णु देवागन एनआईटी के लिए भी चयनित हुआ था। निर्धन ग्रामीण परिवार से आने वाले छात्र लिलेश महला ने अपने प्रथम प्रयास में ही नीट परीक्षा के तहत् एनआईटी (इलेक्ट्रिकल संकाय) में प्रवेश लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *