जिला स्तरीय मलेरिया वर्किंग कमेटी की बैठक, मलेरिया की रोकथाम को लेकर की बैठक, क्या दिए निर्देश जानिए…

जिला स्तरीय मलेरिया वर्किंग कमेटी की बैठक, मलेरिया की रोकथाम को लेकर की बैठक, क्या दिए निर्देश जानिए...

पलवल(ज्योति खंडेलवाल)। उपायुक्त नरेश नरवाल ने लघु सचिवालय के सभागार में स्वास्थ्य विभाग द्वारा आयोजित जिला स्तरीय मलेरिया वर्किंग कमेटी की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि जिले में मलेरिया की रोकथाम के लिए मशीनों द्वारा फॉगिंग कार्रवाई की जाएगी और मलेरिया के प्रति लोगों को जागरूक किया जाएगा। उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग को एक कंट्रोल रूम स्थापित करने के निर्देश दिए। उन्होंने नगर परिषद के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सभी शहरी क्षेत्रों में मलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम में सफाई व मशीनों द्वारा फॉगिंग करवाना सुनिश्चित करें तथा पंचायत विभाग गांवों में नाले-नालियों की साफ-सफाई व गढ्ढों को भरवाए जहां पानी खड़ा होता है, ताकि मच्छरों के पनपने को रोका जा सके। इसके साथ-साथ मलेरिया से संबंधित जागरूकता कार्यक्रमों में ग्रामिणों जागरूकता उत्पन्न करें।

लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से कहा कि सड़क किनारे व सड़क पर पानी एकत्रित होने वाले गढ्ढों की मरम्मत व भरवाना सुनिश्चित करें ताकि दुर्घटनाओं से बचा जा सके। उन्होंने हरियाणा रोडवेज विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे खुले में पड़े टायरों को ठीक प्रकार से कवर करें ताकि उन में पानी जमा न होने पाए और मच्छरों का लार्वा पैदा ना होने पाए। उपायुक्त ने महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे संबंधित क्षेत्रों के सभी घरों में जाकर मलेरिया के निवारण एवं नियंत्रण उपायों के बारे में जनता को जागरूक करें। उन्होंने उपस्थिति अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे भवनों की छतों पर कबाड़ और कूड़ा इक्ट्ठा ना होने दे इस पर विशेष ध्यान रखें। पूरी बाजू के कपड़े पहने, टायर, मटका और अन्य कबाड़ के सामान में पानी खड़ा ना होने दें।

अपने आस-पास कूड़ा गंदगी व पानी इक्ट्ठा ना होने दे। अपने घरों के आस-पास पानी खड़ा ना होने दें, पानी ठहरेगा जहां मच्छर पैदा होगा के बारे में जागरूकता उत्पन्न करें। शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि वे विद्यालयों के भवनों की छतों साफ करवाए तथा अनावश्यक गढढों में भरवाना सुनिश्चित करे ताकि बरसात के मौसम में पानी एकत्रित न हो सके। इस मौके पर सिविल सर्जन डॉ ब्रहमदत ने विस्तार पूर्वक जानकारी दी और बताया कि स्वास्थ्य विभाग की सक्रियता व स्वच्छता के कारण ही जिला में मलेरिया की रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठाए गए है। सिविल सर्जन ने मलेरिया के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों से पूर्ण सहयोग करने का आह्वाहन किया।

Published By: Pooja Saini

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *