कृषि विज्ञानं केंद्र सुंदरनगर को मिला सर्वश्रेष्ठ प्रेजेन्टेशन अवार्ड। 

कृषि विज्ञानं केंद्र सुंदरनगर को मिला सर्वश्रेष्ठ प्रेजेन्टेशन अवार्ड। 

नई दिल्ली के द्वारा आयोजित आनलाइन कार्यशाला में मिला सम्मान। 
सुंदरनगर (नितेश सैनी) :-  
भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली के द्वारा आयोजित आनलाइन कार्यशाला में कृषि विज्ञान केंद्र सुंदरनगर को जोन नंबर-1 में बेस्ट प्रेजेंटेशन अवार्ड से नवाजा गया है। बता दें कि कृषि प्रोद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान जोन-1 केे अंतर्गत पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उतराखंड 3 राज्य और 2 केंद्रशासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर व लदाख सहित कुल 67 केवीके आते हैं। केवीके सुंदरनगर द्वारा वर्ष 2012 में भी केंद्रीय सरकार और भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली द्वारा जोन लेवल पर आईसीआर बेस्ट केवीके और वर्ष 2017 में पंडित दिनदयाल उपाध्याय कृषि विज्ञान प्रोत्साहन पुरस्कार से नवाजा जा चुका है।
केवीके सुुंदरनगर के वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. पंकज सूद ने कहा कि दो दिन तक चली इस कार्यशाला में 2019-20 में कृषि विज्ञान केंद्रों द्वारा किए गए कार्याें की समीक्षा और आगामी 2020-21 में किए जाने वाले कार्याें की रूपरेखा पर चर्चा की गई। अन्य 66 जिला स्तरीय केवीके को पछाड़ते हुए प्रथम स्थान हासिल किया है। डा. पंकज सूद ने इस उपलब्धि पर कहा कि चौधरी सरवण कुमार हिमाचल प्रदेश कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर तथा कृषि प्रोद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान जोन-1 की टीम के मार्गदर्शन से ही यह संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी कृषि विज्ञान केंद्र किसानों व कृषि के उत्थान के लिए कार्य करता रहेगा। इस कार्यशाला में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कैलाश चौधरी ने बतौर मुख्यातिथि तथा भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली के महानिदेशक डा. त्रिलोचन मोहापात्रा ने वशिष्ट अतिथि के रूप में शिरकत की। वहीं भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद(आईसीएआर) नई दिल्ली के उप महानिदेशक, कृषि विस्तार डा. एके सिंह,एडीजी डा.रंधीर सिंह, डा. वीपी चैहल सहित सभी 7 कृषि विश्वविद्यालयों के कुलपति, निदेशक प्रसार शिक्षा, कृषि प्रोद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जोन-1 के निदेशक डा. राजबीर सिंह ने भी इस कार्यशाला के दौरान परिचर्चा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *