किसानों ने सरकार को दिया एक सप्ताह का समय ! जानिए क्या बनी वजह ?

किसानों ने सरकार को दिया एक सप्ताह का समय ! जानिए क्या बनी वजह ?

ख़राब फसलों की कम मुवावजा राशि मिलने पर किसानो ने किया प्रदर्शन
गोहाना के कृषि विभाग कार्यालय में पहुंच कर किया प्रदर्शन
सरकार और बीमा कपंनी के खिलाफ की नारेबाजी
कृषि विभाग के एसडीओ को प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रीनाम सौंपा ज्ञापन
गोहाना (सुनील जिंदल) :-
गोहाना और आसपास के गांव में पिछले साल बारिश और ओलावृष्टि से किसानो की ख़राब हुई धान व गेहू की फसलों की कम मुआवजा राशि दिए जाने से नाराज आधा दर्जन गांव के किसानों ने गोहाना के कृषि विभाग में इकट्ठा होकर बीमा कंपनी के साथ सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुएनारे लगाए। इस दौरान किसानो ने गोहाना कृषि विभाग के अधिकारी राजेंद्र मेहरा कोदेश के प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ने नाम ज्ञापन भी सौंपा।

मौके पर भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश के उपप्रधान सत्यवान नरवाल ने कहा कि किसानो की फसलों का फसल बीमा कर उनके खातों सेबीमा का प्रीमियम तो टाईम पर काट लिया जाता है, लेकिन समय पर न तो उनको उनकी ख़राबहुई फसलों की राशि दी जाती और न ही पूरी राशि दी जाती। पिछले साल गोहाना और आसपासके 20 से भी ज्यादा गांव में बारिश और ओलावृष्टि से किसानो की धान और गेहू की 80फीसदी फसल खराब हो गई थी…..उस समय बीमार कंपनियों की ओर से गांव में सर्वे भीकिया गया था, लेकिन अब ने अभ किसानों को उनकी खराब हुई फसल का मुआवजा देने के नामपर किसानों के साथ मजाक किया है….उन्होंने कहा कि यदि सरकार ने एक सप्ताह केभीतर किसानों को उनकी खराब हुई फसल का पूरा मुआवजा नहीं दिया तो वे आंदोलन करने पर मजबूर होंगे ।

कृषि विभाग के अधिकारी राजेंद्र मेहरा ने बताया किसानो के ज्ञापन को उच्च अधिकारियो तक पहुंचा दिया जाएगा….जवाब आने पर उसके बारे में भी किसानों को जानकारी दे दी जाएगी….कृषि अधिकारी ने भी स्वीकार किया कि बीते वर्ष गोहाना में बारिश से किसानो की फसलों को काफी नुकसान हुआ था। उन्होंने खुद बीमा कंपनी के अधिकारियों के साथ मिलकर गांव-गांव जाकर किसानों की खराब हुई फसल की गिरदावरी की थी….किसानों की दी जा रही राशि के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि इस बारे में तो बीमा कंपनी के अधिकारी ही बता सकते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *