अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने के मामले में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होगी सुनवाई

अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने के मामले में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होगी सुनवाई

लखनऊ  : (ब्यूरो) उत्तर प्रदेश के अयोध्या में विवादित ढांचा विध्वंस  के मामले जारी रहेंगे। सीबीआई की विशेष अदालत ने फैसला किया है कि विवाद में आगे की सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की जाएगी। वीडियो कांफ्रेंसिंग  में सुनवाई के दौरान पूर्व उप-प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, विनय कटियार, विहिप नेता चंपत राय बंसल और अन्य लोगों के शामिल होने की उम्मीद है। दरअसल, अयोध्या मामले  के पहले मुकदमे की कार्यवाही 20 अप्रैल को समाप्त होने वाली थी,

लेकिन बीच में लॉकडाउन के चलते कोर्ट को बंद कर दिया गया था। इसलिए समय सीमा के तहत सुनवाई नहीं हो पाई। मामले को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 8 मई को विशेष अदालत को निर्देश दिया था कि वह मुकदमे की कार्यवाही 31 अगस्त तक पूरी कर ले। मिली जानकारी के मुताबिक कोर्ट ने सीबीआई की ओर से पेश अभियोजन पक्ष के सभी गवाहों के बयान दर्ज कर लिए गए हैं। इस गवाहों के तहत आरोपियों को सूचित किया जाएगा कि उनके खिलाफ क्या सबूत मिले हैं। हालांकि, शुक्रवार को बचाव पक्ष ने दलील दी कि वह अभियोजन पक्ष  के तीन गवाहों से सवाल करना चाहता है। इस पर विशेष न्यायाधीश एस के यादव ने कहा कि अभियोजन पक्ष से जो भी सवाल पूछना चाहते हैं, उसकी एक सूची तैयार कर सौंप दें। अदालत मामले की अगली सुनवाई 18 मई को करेगी। बता दें कि, 1992 में विवादित ढांचा ढहाए जाने के मामले में अयोध्या पुलिस में दर्ज दो एफआईआर के संदर्भ में लखनऊ की एक अदालत में सुनवाई चल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *