अयोध्या में रामजन्मभूमि परिसर में मोबाइल ले जाने पर पूरी तरह से लगाई पाबंदी

अयोध्या में रामजन्मभूमि परिसर में मोबाइल ले जाने पर पूरी तरह से लगाई पाबंदी

लखनऊ : (ब्यूरो)  अयोध्या में रामजन्मभूमि परिसर में मोबाइल ले जाने पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई है. पहले सहायक पुजारी और कर्मचारी मोबाइल ले जाते थे. अब केवल प्रशासनिक और सुरक्षा से जुड़े अफसरों को ही मोबाइल साथ ले जाने की इजाजत है.

असल में, 25 मार्च को रामलला के अस्थाई मंदिर में शिफ्ट होने के बाद पुजारियों और कर्मचारियों को मोबाइल ले जाने की छूट दी गई थी. रामजन्मभूमि परिसर की सुरक्षा में तैनात एसपी और राम जन्मभूमि के पुजारी आचार्य सत्येन्द्र दास ने इसकी पुष्टि की है.

सत्येन्द्र दास ने बताया कि मेरे सहायक पुजारी मोबाइल ले जाते थे. अब प्रतिबंध के बाद नहीं ले जाएंगे. सत्येन्द्र दास ने कहा कि हाल में ही आंधी और बारिश के बाद रामजन्मभूमि परिसर में स्थापित अस्थाई मंदिर की तस्वीरें आई थीं. उसी को लेकर अब प्रतिबंध लगाया गया है.

निर्माण कार्यों को मिली छूट

बहरहाल, लॉकडाउन में निर्माण कार्यों को मिली छूट से अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने राम मंदिर के लिए भूमि पूजन की तैयारी तेज कर दी है. मंदिर की सुरक्षा और दर्शन के लिए गर्भगृह के आसपास लगाई गई लोहे की घेराबंदी व जाली समेत सीआरपीएफ के कैंप को हटाने का कार्य गुरुवार से शुरू हो गया है.

मंदिर के आस-पास की भूमि को बराबर करने के लिए इंजीनियरों की निगरानी में स्थानीय पीडब्ल्यूडी की टीम लगा दी गई है. जानकारी के मुताबिक, अयोध्या में कैंप कर रहे ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय और पदेन ट्रस्टी जिलाधिकारी अनुज कुमार झा के नेतृत्व में ये काम शुरू हुआ है. इसके लिए प्रधानमंत्री को बुलाने की भी तैयारी चल रही है.

दरअसल, लॉकडाउन के तीसरे चरण में निर्माण कार्य शुरू करने को लेकर मिली छूट के बाद ये कवायद शुरू हुई है. मंदिर के नक्शे के मुताबिक, गर्भगृह के चारों ओर लगाई गई लोहे की पाइप की घेराबंदी, लोहे की जाली, अस्थाई सुरक्षा कर्मियों के कैंप को हटाकर समतल कराने का कार्य शुरू किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *