Anil Vij

हरियाणा के मंत्री अनिल विज कोविद वैक्सीन परीक्षणों के बने पहले स्वयंसेवक!

हरियाणा के मंत्री अनिल विज कोविद वैक्सीन परीक्षणों के बने पहले स्वयंसेवक! नई दिल्ली -: हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को आज राज्य के अंबाला छावनी के एक अस्पताल में कोरोनोवायरस वैक्सीन की एक परीक्षण खुराक दी गई। भारत बायोटेक के कोवाक्सिन का तीसरा चरण परीक्षण आज से हरियाणा में शुरू हुआ। कुछ दिन पहले, 67 वर्षीय मंत्री ने ट्विटर पर घोषणा की थी कि वह अपने राज्य में

Covaxin के तीसरे चरण का ट्रायल आज,  हरियाणा के मंत्री अनिल विज सबसे पहले आज लगवाएंगे टीका!

Covaxin के तीसरे चरण का ट्रायल आज,हरियाणा के मंत्री अनिल विज सबसे पहले आज लगवाएंगे टीका! चंडीगढ़ (ब्यूरो) : हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज जिन्होंने COVID-19 के खिलाफ संभावित टीके कोवाक्सिन के लिए चरण तीन परीक्षणों में पहला स्वयंसेवक बनने की पेशकश की थी, उन्हें आज खुराक मिलेगी। यह भी पढ़े-भारत ने पाकिस्तानी सेना द्वारा संघर्ष विराम उल्लंघन का किया विरोध! भारतीय जनता पार्टी के 67 वर्षीय वरिष्ठ नेता

गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से मिले डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला, स्वस्थ होने की कामना...

चंडीगढ़(भारत 9 ब्यूरो)। सोमवार को प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने मोहाली स्थित मैक्स अस्पताल में गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना। इस दौरान डिप्टी सीएम ने करीब 30 मिनट उनसे मुलाकात की और गृहमंत्री का कुशलक्षेम जानते हुए उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की। आपको बतादे 9 जून की दोपहर घर के बाथरूम में फिसलकर गिरने से अनिल विज की बाईं जांघ

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने शराब घोटाले की जांच के लिए इन नामों की सिफारिश की

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज नेशराब के वेयरहाउस से शराब  की पेटियां चोरी होने के साथ-साथ करोड़ों की शराब तस्करी एसआईटी (Sit) मामले में तीन वरिष्ठ आईएएस अफसरों के नाम बतौर एसआईटी हैड प्रस्तावित कर दिए हैं। इन नामों में सबसे ऊपर हरियाणा काडर के सबसे चर्चित अधिकारी अशोक खेमका के अलावा एसीएस संजीव कौशल व वह टीसी गुप्ता का नाम शामिल है। विज ने साफ कर

मरकज के जमातियों को अनिल विज की अंतिम चेतावनी ! जानिए क्या बोले विज ?

अंबाला, (कृष्ण बाली)! मरकज के जमातियों के कारण हरियाणा में कोरोना पॉजिटिव पीड़ितों की संख्या में बढ़ोतरी होने पर अब गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज गंभीर हो गए है…अनिल विज ने सख्त लहजे में सभी जमातियों को चेतावनी देते हुए कहा कि मरकज से आए जमाती खुद सरकार के सामने आ जाए….विज ने कहा कि यदि वे सामने नहीं आते तो सबके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी…इतना ही नहीं विज

महेंद्र सिहाग को किया अनिल विज ने सम्मानित उत्कृष्ट कार्यों सफाई व्यवस्था में मेन पावर सप्लाई के लिए सोना इंटरप्राइजेज को मिला प्रशस्ति पत्र

महेंद्र सिहाग को किया अनिल विज ने सम्मानित उत्कृष्ट कार्यों सफाई व्यवस्था में मेन पावर सप्लाई के लिए सोना इंटरप्राइजेज को मिला प्रशस्ति पत्र पंचकूला 27 जनवरी(संदीप सैनी) गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में सोना इंटरप्राजि को एक भव्य समारोह में गृह एवं स्वास्थय मंत्री अनिल विज द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। और उनके कार्य अति उतम सपंन करने पर मंत्री अनिल विज द्वारा प्रशस्ति पत्र प्रदान कर स्वस्छ्ता

स्वास्थ्य विभाग के बजट को साढ़े चार हजार करोड़ रुपये से बढ़ाकर सीधे दस हजार करोड़ करने की तैयारी है।

चंडीगढ़। पूर्ववर्ती सरकारों में हाशिये पर रही स्वास्थ्य सेवाओं को पहली पारी में पटरी पर लाने में काफी हद तक सफल रही मनोहर सरकार अब सेहत पर दोगुना खर्च करेगी। अगले बजट सत्र में स्वास्थ्य विभाग के बजट को साढ़े चार हजार करोड़ रुपये से बढ़ाकर सीधे दस हजार करोड़ करने की तैयारी है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने विभागीय अधिकारियों के साथ मंथन करने के बाद इस संबंध में

सरकार की अंदरूनी बातें पब्लिक के सामने नहीं आनी चाहिए। हुड्डा ने कहा कि मौजूदा सरकार में किसकी चल रही है किसी को पता नहीं है।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल और गृह मंत्री अनिल विज के बीच बेशक आपसी समन्वय बेहतर हो, मगर विज की बयानबाजी को लेकर विपक्ष ने निशाना साधना शुरू कर दिया है। नई दिल्ली में पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि सरकार की अंदरूनी बातें पब्लिक के सामने नहीं आनी चाहिए। हुड्डा ने कहा कि मौजूदा सरकार में किसकी चल रही है किसी को पता नहीं

चुनावी वादे को पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ा भाजपा और जजपा गठबंधन

चंडीगढ़(bharat9): हरियाणा की भाजपा और जजपा गठबंधन की सरकार ने अपने संयुक्त न्यूनतम साझा कार्यक्रम को लागू करने की दिशा में कदम बढ़ा दिए हैं। गृह मंत्री अनिल विज के नेतृत्व वाली संयुक्त कमेटी ने बृहस्पतिवार को उन घोषणाओं और वादों की पड़ताल की, जो भाजपा व जजपा दोनों के चुनाव घोषणा पत्रों में शामिल हैैं। ऐसी घोषणाएं करीब तीन दर्जन हैैं।कमेटी ने आर्थिक और कानूनी पहलुओं पर अफसरों से