9 महीने बाद छत्तीसगढ़ में 15 नवंबर से खुलेंगे सिनेमा हॉल!

9 महीने बाद छत्तीसगढ़ में 15 नवंबर से खुलेंगे सिनेमा हॉल!

9 महीने बाद छत्तीसगढ़ में 15 नवंबर से खुलेंगे सिनेमा हॉल!

रायपुर (ब्यूरो) : रायपुर में करीब 9 महीने बाद 15 नवंबर से सिनेमा हॉल शुरू करने के आदेश जारी किए गए हैं। बुधवार को इसे लेकर कलेक्टर ने विस्तृत गाइडलाइन जारी की। जिला प्रशासन की तरफ से कहा गया है कि नियमों की अनदेखी करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। महामारी एक्ट के तहत एफआईआर भी हो सकती है। कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन करना होगा। शहर के मेग्नेटो मॉल स्थित पीवीआर और सिटी सेंटर मॉल स्थित सिनेमैक्स में सैनिटाइजेशन और क्लीनिंग का काम होगा।
जिला प्रशासन की ओर से जारी गाइड लाइन के मुताबिक, सिनेमा हॉल आधा खाली रहेगा। नए निर्देशों के मुताबिक, एक व्यक्ति जिस सीट पर बैठेगा, उसके ठीक बगल की कुर्सी खाली रहेगी। निर्देश में बताया कि पूरे हॉल की क्षमता के 50 प्रतिशत ही लोग बैठ सकेंगे। यानी 100 सीटें हैं तो 50 लोग ही बैठ सकेंगे। सभी को मास्क का इस्तेमाल करना होगा। टेंपरेचर की जांच के बाद ही एंट्री मिलेगी।
एसी की टेंपरेचर सेटिंग 24-30 डिग्री सेल्सियस के आस-पास होनी चाहिए। ताजी हवा आ-जा सके इसका भी इंतजाम हो, एंट्री-एक्जिट प्वॉइंट और कॉमन एरिया में सैनिटाइजर रखना अनिवार्य होगा। जो टच फ्री मोड में हो। कॉमन एरिया में 6 फीट की दूरी का मार्कर बनाया जाना अनिवार्य होगा। कोरोना के प्रारंभिक लक्षण जैसे कि सर्दी, खांसी, बुखार वगैरह होने पर लोगों को एंट्री नहीं मिलेगी। सिनेमाघर, मल्टीप्लेक्स में लोग मास्क या फेस कवर छोडें तो इन्हें सही तरीके से डिस्पोज करना होगा।
पीवीआर के कर्मचारियों ने बताया कि लोगों के साथ हम पेपर लेस काम करेंगे। काउंटर से टिकट लेने पर कैश का लेन-देन होगा मगर टिकट नहीं दी जाएगी। लोगों के मोबाइल पर मैसेज और लिंक के जरिए टिकट या बुकिंग डीटेल दी जाएगी। एंट्री पर इसे जांच कर लोगों को अंदर एंट्री दी जाएगी।
65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं और 10 वर्ष से कम आयु के बच्चों को कलेक्टर ने घर पर ही रहने की सलाह दी है। इंटरवल में लॉबी और वॉशरूम में अधिक भीड़ से बचने के प्रयास किए जाने के भी निर्देश दिए गए हैं। कहा गया है कि इंटरवल की टाइमिंग बढ़ाई जाए ताकि लाइन से लोग कॉमन एरिया या वॉशरूम में जा सकें। दूसरी स्क्रीन के इंटरवल टाइमिंग के साथ ओवरलैप ना हो यह भी देखना सेंटर्स की जिम्मेदारी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *