पीएम मोदी ने देश की जनता से रात 9 बजे मांगे 9 मिनट ! जानिए क्या करना होगा काम ?

पीएम मोदी ने देश की जनता से रात 9 बजे मांगे 9 मिनट ! जानिए क्या करना होगा काम ?

नई दिल्ली, (भारतभूषण शर्मा): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कोरोना वायरस महामारी को लेकर तीसरी बार देश को संबोधित किया। शुक्रवार सुबह नौ बजे पीएम मोदी ने एक वीडियो मैसेज जारी कर देश से कोरोना वायरस के खिलाफ एकजुट होने की अपील की है। उन्होंने लोगों से अपील की कि पांच अप्रैल को रात नौ बजे नौ मिनट के लिए अपने घरों के बाहर रोशनी करें। हालांकि, ताली-थाली-शंख-घंटी आदि बजाने की अपील के दौरान लोगों के भीड़ में एकत्र होने की पिछली घटना को देखते हुए पीएम ने लोगों से इस बार विशेष सावधानी बरतने की भी अपील की है।

कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देश में चल रहे लॉकडाउन पर पीएम मोदी लगातार नजर बनाए हुए हैं। कोरोना वायरस से लड़ रहे देश के लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक वीडियो संदेश दिया। पीएम ने सुबह 9 बजे लोगों के साथ एक वीडियो संदेश साझा किया। पीएम ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि इस रविवार 5 अप्रैल को रात 9 बजे घर की सभी लाइटें बंद करके 9 मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाएं।

वीडियो संदेश में पीएम ने कहा कि हम सबको मिलकर कोरोना संकट के अंधकार को चुनौती देनी है। इस महामारी को प्रकाश की ताकत का परिचय कराना है। इस 5 अप्रैल को हमें, 130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति का जागरण करना है। इस दौरान घर की सभी लाइटें बंद करके, घर के दरवाजे पर या बालकनी में, खड़े रहकर, 9 मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाएं।

घर से बाहर न निकलें, कहीं पर भी इकट्ठा न हों
जनता कर्फ्यू के दौरान पीएम मोदी ने लोगों से अपील करते हुए कहा था कि घरों की बालकनी में खड़े होकर उन लोगों का उत्साह बढ़ाए जो कोरोना से लड़ने में जुटे हुए हैं। बावजूद इसके कई लोग सड़कों पर निकल कर ताली और थाली बजा रहे थे। इसको देखते हुए पीए ने कहा कि मेरी एक और प्रार्थना है कि इस आयोजन के समय किसी को भी, कहीं पर भी इकट्ठा नहीं होना है। रास्तों में, गलियों या मोहल्लों में नहीं जाना है, अपने घर के दरवाजे, बालकनी से ही इसे करना है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये लॉकडाउन का समय जरूर है, हम अपने अपने घरों में जरूर हैं, लेकिन हम में से कोई अकेला नहीं है। 130 करोड़ देशवासियों की सामूहिक शक्ति हर व्यक्ति के साथ है। हमारे यहां माना जाता है कि जनता जनार्दन, ईश्वर का ही रूप होती है। इसलिए जब देश इतनी बड़ी लड़ाई लड़ रहा हो, तो ऐसी लड़ाई में बार-बार जनता रूपी महाशक्ति का साक्षात्कार करते रहना चाहिए: पीएम मोदी

24 मार्च को लॉकडाउन
इससे पहले 24 मार्च को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के चलते देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी। पूरे देश में लॉकडाउन के बीच कई जगहों पर लापरवाही के चलते कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। भारत में कोरोना वायरस के अब तक दो हजार मामलों की पुष्टि हुई है। देशभर में कोरोना से 151 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि अब तक 50 लोगों की मौत हो गई है।

मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा
कोरोना वायरस से निपटने के उपायों पर चर्चा के लिए गुरुवार को पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्रियों से बातचीत की थी। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि कोरोना वायरस के मरीजों के लिए अलग और विशेष अस्पतालों की जरुरत है। पीएम ने लॉकडाउन के फैसले का समर्थन करने के लिए राज्यों को भी धन्यवाद दिया। इस बैठक में पीएम मोदी के साथ गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत अन्य प्रमुख लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *