हिमाचल में अब भी जारी भारी बारिश का कहर

हिमाचल में अब भी जारी भारी बारिश का कहर

शिमला-: हिमाचल में येलो अलर्ट के बीच दूसरे दिन भी भारी बारिश से करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ है। प्रदेश में 19 घर और दो दर्जन के करीब गौशालाएं गिर गई हैं। कुल्लू में मलाणा में दो घर ढहने से 13 लोगों का आशियाना छिन गया है। मंडी में सबसे ज्यादा 10, हमीरपुर में 5 और कांगड़ा में दो घर ध्वस्त हो गए हैं। रोहड़ू में बारिश से दलदल बने करासा-बहाली संपर्क मार्ग पर शुक्रवार देर शाम सेब से लदी गाड़ी फंस गई। गाड़ी को निकालने के लिए युवक ने पहियों में पत्थर लगाने की कोशिश की। इतने में गाड़ी युवक पर ही पलट गई और उसकी मौत हो गई। प्रदेश में अभी भी 287 सड़कों पर यातायात थमा हुआ है।

राज्य में भारी बारिश से 4400 पेयजल योजनाएं प्रभावित हुई हैं। जल शक्ति विभाग को अभी तक करीब 200 करोड़ का नुकसान हो चुका है। बारिश से कई पेयजल योजनाओं को बार-बार क्षति पहुंच रही है। पेयजल योजनाएं प्रभावित होने से क्षेत्र के लोगों को भी जल संकट से जूझना पड़ रहा है। मंडी जिले की पेयजल योजनाओं को 40 करोड़, कांगड़ा जिले में 31 करोड़ का नुकसान हुआ है। जल शक्ति विभाग के बाढ़ नियंत्रण प्रोजेक्टों को 12 करोड़ की क्षति हुई है । ब्यास और सहायक नदी-नाले उफान पर हैं। कुल्लू में सेब तुड़ान भी प्रभावित हुआ है। 11 बिजली के ट्रांसफार्मर ठप हो गए हैं। हिमाचल में शनिवार से बारिश की रफ्तार में कुछ कमी आएगी। 31 अगस्त तक प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में मौसम साफ रहने का अनुमान है। एक सितंबर को दोबारा भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है। शुक्रवार को नाहन में 50 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड हुई। मणिकर्ण में 11, बजौरा में 8 और खड़ापत्थर में तीन मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई। शिमला में भी हल्की बूंदाबांदी का दौर जारी रहा। प्रदेश के कई क्षेत्रों में शुक्रवार को बादल छाए रहे। शुक्रवार को अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री की कमी दर्ज हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *