हाथों में चूड़ा डाल इंतजार में बैठी रही दुल्हन, दूल्हा नहीं आया बारात लेकर

हाथों में चूड़ा डाल इंतजार में बैठी रही दुल्हन, दूल्हा नहीं आया बारात लेकर

अमृतसर(Bharat9): अमृतसर के सुल्तानविंड रोड स्थित प्राचीन शिव मंदिर में शनिवार को शादी की सारी तैयारियां हो चुकी थी। हाथों में शगुन की मेहंदी लगाकर और चूड़ा पहनकर दुल्हन पहुंच चुकी थी। हर कोई बारात की राह देख रहा था। घड़ी की सुइयों के साथ इंतजार लंबा होता गया। सुबह से दोपहर और दोपहर से शाम हो गई मगर बारात के दर्शन नहीं हुए। जब वजह जानने की कोशिश की गई तो पता चला कि दूल्हा शादी के लिए तैयार नहीं है। अब दुल्हन का परिवार इंसाफ के लिए पुलिस थाने के चक्कर काट रहा है।

लड़की के अनुसार, मोहित नामक युवक 4 बरसों से उसे शादी का झांसा दे रहा था। 6 महीने पहले उसकी मां रिश्ता लेकर गई तो मोहित के मां-बाप ने शादी से दोटूक इनकार कर दिया। जब उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस में दी तो मोहित के घरवाले शादी के लिए मान गए और राजीनामा हो गया। दोनों पक्षों की सहमति से शादी की तारीख 30 नवंबर तय हुई। प्रोग्राम प्राचीन शिव मंदिर (सुक्का तालाब) में रखा गया। जब शादी की तैयारियां हो चुकी थी और रिश्तेदार पहुंच चुके थे तब मोहित ने अचानक फोन कर कह दिया कि उसके पिता की तबीयत ठीक नहीं है, इसलिए वह बारात लेकर नहीं आ सकता।

पिता बोले-आपसी सहमति से रिश्ता, ऐन मौके पर इनकार
दुल्हन के पिता ने आरोप लगाया कि 23 जुलाई 2019 को इलाके के प्रमुख लाेगाें के बीच बैठकर दोनों परिवारों ने आपसी सहमति से यह रिश्ता तय किया था। इकरारनामे में मोहित के पिता सुनील सहगल ने लिखा था कि अक्टूबर में उनकी बेटी की शादी है और 30 नवंबर को वह मोहित की शादी करेंगे। शनिवार को बारात न पहुंचने पर जब उन्होंने मोहित के पिता को फोन किया तो नंबर बंद आया। उधर महिला पुलिस थाना की एसएचओ राजविंदर कौर ने कहा कि जांच चल रही है। जो कसूरवार मिलेगा, उस पर बनती कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *