सरकार की अंदरूनी बातें पब्लिक के सामने नहीं आनी चाहिए। हुड्डा ने कहा कि मौजूदा सरकार में किसकी चल रही है किसी को पता नहीं है।

सरकार की अंदरूनी बातें पब्लिक के सामने नहीं आनी चाहिए। हुड्डा ने कहा कि मौजूदा सरकार में किसकी चल रही है किसी को पता नहीं है।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल और गृह मंत्री अनिल विज के बीच बेशक आपसी समन्वय बेहतर हो, मगर विज की बयानबाजी को लेकर विपक्ष ने निशाना साधना शुरू कर दिया है। नई दिल्ली में पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि सरकार की अंदरूनी बातें पब्लिक के सामने नहीं आनी चाहिए।

हुड्डा ने कहा कि मौजूदा सरकार में किसकी चल रही है किसी को पता नहीं है। जिस तरह की खबरें आ रही हैं उससे सरकार चलाने में बाधा अवश्य आती है। पूर्व सीएम ने कहा कि विपक्ष को सरकार के अंदरूनी मामलों में बोलने की जरूरत नहीं है, मगर गठबंधन सरकार को अपना न्यूनतम साझा कार्यक्रम शीघ्र जनता के सामने लाना चाहिए। सरकार ने अभी अपना काम भी शुरू नहीं किया है।

फोन टेपिंग के मामले में हुड्डा ने गृहमंत्री विज का समर्थन

फोन टेपिंग के मामले में हुड्डा ने गृहमंत्री विज का समर्थन करते हुए कहा कि किसके फोन टेप हो रहे हैं, इसकी जानकारी गृहमंत्री को तो होनी ही चाहिए। गृह सचिव के आदेश पर फोन टेप होते हैं, अगर गृहमंत्री को इस बाबत कुछ नहीं पता तो दाल में कुछ काला है। जब गृहमंत्री फोन टेप मामले में संदेह कर रहे हैं तो फिर विपक्ष इससे अछूता कैसे रह सकता है। हुड्डा ने बिजली मंत्री रणजीत सिंह के बिजली बिल न भरने पर बच्चों को पेपर नहीं देने के विषय पर कहा कि इस तरह के कानून जनहित में नहीं होते। अगर पिता ने बिल नहीं भरा तो इसमें बच्चों का क्या कसूर है।

सरकार पर खुद विज और गौतम खड़ा कर रहे सवाल : दीपेंद्र हुड्डा

उधर, जींद में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि प्रदेश सरकार दो माह बाद भी कॉमन मिनिमम प्रोग्राम तय नहीं कर पाई है। इससे साबित होता है कि भाजपा व जेजेपी के नेताओं की प्राथमिकता अपने हित साधना है। जनता के हितों से उनका कोई लेना देना नहीं है। यही कारण है कि भाजपा के सबसे सीनियर नेता अनिल विज और जेजेपी के सबसे सीनियर नेता रामकुमार गौतम ही सरकार पर सवाल खड़ा कर रहे हैं।

सफीदों हलके के युवा कांग्रेस नेता रविंद्र देशवाल के कार्यालय पर पत्रकारों से बातचीत में दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस ने राकांपा व शिवसेना के सहयोग से सरकार बनाई। वहां शपथ लेने से पहले जनता के हित में कॉमन मिनिमम प्रोग्राम तय किया। लेकिन हरियाणा में भाजपा व जेजेपी में मलाइदार महकमे लूटने पर ही खींचतान चल रही है। दोनों पार्टियों के लिए लूट व झूठ ही कॉमन मिनिमम प्रोग्राम है। दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि जेजेपी ने चुनाव में यह कहकर वोट लिए थे कि भाजपा को जमना पार करवाएंगे। लेकिन अपने हित साधने के लिए जनता को धोखा देकर भाजपा के साथ गठबंधन कर लिया और जनादेश का अपमान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *