सफाई करने वाले 65 कोरोना योद्धाओं को नौकरी से निकाला, निकाले गए कर्मियों ने दिया धरना…

सफाई करने वाले 65 कोरोना योद्धाओं को  नौकरी से निकाला, निकाले गए कर्मियों ने दिया धरना...

कैथल(रमन गुप्ता)। जब पूरा देश लॉकडाउन हुआ तो सरकार ने आपातकाल में ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मी, स्वास्थ्य कर्मी, सफाई कर्मी और पत्रकारों को कोरोना योद्धा का दर्जा दिया। यह लोग उस स्थिति में काम कर रहे थे जब कोई घर से बाहर नहीं निकल रहा था। जी हां आज हम बात कर रहे हैं नगर परिषद में काम करने वाले सफाई कर्मियों की, जिनको पहले कोरोना योद्धा का सम्मान दिया गया। इनके ऊपर फूल बरसाए गए, इनके लिए तालियां-थालिया बजाई गई, परन्तु अब 65 अनुबंध पर रात्रि में सफाई काम करने वाले कर्मचारियों को नौकरी से निकाल कर बेरोजगार कर दिया गया है। कर्मचारियों का कहना है कि यह केवल 65 लोग नहीं है इनके पीछे 350 लोग हैं। जो इनके परिवार से है। कर्मियों ने कहा कि लॉक डाउन में वह सभी काम किए जो हमारी ड्यूटी में शामिल नहीं थे, हमने कोई छुट्टी भी नहीं ली। राहत कोष में चंदा भी दिया। अपनी वेतन भी कटवाया और यहां तक की जो लोग कोरोना पीड़ित आते थे उनकी मेडिकल वेस्ट वह भी हमने उठाया यहां तक कि अगर कोई कोरोना वायरस की मृत्यु हो जाती थी। उसके संस्कार का प्रबंधन भी हम ही करते हैं जो कि हमारी ड्यूटी में नहीं आता उसके बावजूद भी सरकार ने हमारी अनदेखी की और हमें नौकरी से हटा कर बेरोजगार कर दिया है। हम सरकार से मांग करते हैं कि हमें दुबारा नौकरी पर रखा जाए अन्यथा यह धरना प्रदर्शन लगातार यूं ही चलते रहेंगे।फिलहाल देखना होगा कि सरकार इन सफाई कर्मचारीयों की कब तक सुनती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *