जख्मी हालत में पुलिस स्टेशन पहुंचे पिल्ले का पुलिस जवानों ने किया उपचार…

जख्मी हालत में पुलिस स्टेशन पहुंचे पिल्ले का पुलिस जवानों ने किया उपचार...

कलायत(रणदीप धानिया)। जीव चक्र को निरंतर चलाए रखने के लिए सभी जीवों के जीवन के प्रति संजीदगी बेहद जरूरी है। इस मूल मंत्र को आत्मसात करते हुए कलायत पुलिस स्टेशन के जवानों ने जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे पिल्ले को जीवन प्रदान किया है। हुआ यूं कि किन्हीं कारणों के चलते पिल्ला बुरी तरह जख्मी हालत में पुलिस थाना पहुंचा। उनकी नाजुक स्थिति को हैड कांस्टेबल रमेश कुमार, नरेंद्र सिंह, होम गार्ड मोहन कुमार और दूसरे कर्मियों ने संजीदगी से लिया। तत्काल पशु चिकित्सक के परामर्श पर पिल्ले के उपचार का सामान खरीदा गया। उपरांत पुलिस कर्मी जीव का जीवन चक्र बचाने में जुट गए। वैश्विक कोरोना संकट के मद्देनजर पशु चिकित्सक की आन लाइन सेवाएं भी ली गई। आखिरकार सांझे प्रयासों से दर्द से बिलख रहे पिल्ले को राहत प्रदान की गई और उसका जीवन बच गया।

जीव संरक्षण की दिशा में किए गए इस महत्वपूर्ण कार्य पर थाना प्रभारी बिलासा राम ने भी पुलिस कर्मियों का उत्साहवर्धन किया। जीव चक्र संतुलन बनाने के लिए वे सभी प्रयास जरूरी है जिससे जीवों को सुरक्षा मिले। हर जीव-जंतु की धरती पर अपनी-अपनी भूमिका है। किसी जीव को गौण समझना भूल है। जब-जब इस मामले में लोगों ने कोताही की है तो जटिल समस्याओं से संपूर्ण मानव जाति को जूझना पड़ा है। चाहे बात पौधों की देखरेख की हो, चाहे स्वच्छता और चाहे जीव-जंतू का जीवन बचाने की। ये सभी कार्य आदर्श व्यवस्था बनाने की बुनियाद हैं। नागरिक के नाते हर स्तर पर जहां तक संभव हो सके लोगों को अपने कर्तव्य का निर्वहन करना चाहिए।

Published By: Pooja Saini

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *