लॉकडाउन की रामायण : भगवान श्री रामचंद्र जी ने रावण का किया वध, सीता जी को लंका से कराया मुक्त

लॉकडाउन की रामायण : भगवान श्री रामचंद्र जी ने रावण का किया वध, सीता जी को लंका से कराया मुक्त

गाजियाबाद : (जेपी मौर्या ) देश भर में चल रहे लॉकडाउन के बीच दूरदर्शन पर दोबारा प्रसारित सीरियल रामायण को बहुत पसंद किया जा रहा है। अब तक के एपिसोड में आपने देखा कि लंका रणभूमि में चल रहे युद्ध को देखकर सभी देवता चिचिंत हो जाते हैं और कहते हैं यह युद्ध बराबरी का नहीं है क्योंकि राम नंगे पांव हैं और रावण रथ सहित अस्त्र-शस्त्र से सजाधजा है। इस पर राम की सहायता के लिए इंद्र ने अपने सारथी मातलि से रथ भिजवाते हैं। सारथी मातलि रथ लेकर राम के पास जाते हैं, लेकिन राम कहते हैं कि मैंने देवराज इंद्र से कोई सहायता नहीं मांगी। इस पर सारथी कहता है कि बह्मा जी के आदेश से इंद्र ने यह रथ आपको भेजा है। लक्ष्मण संदेह जताते हैं, तब सारथी दिव्य रथ के गुण का बखान करता है। विभीषण, राम- लक्ष्मण को रथ स्वीकार करने के लिए निवेदन करते हैं। राम तैयार हो जाते हैं। रावण रथ को देखकर आश्चर्य जताता है और रथ की सच्चाई को जान इंद्र को धमकी देता है।
रावण राम पर कई बाण चलाता है। इसके बाद भगवान श्री राम, रावण पर तीर चलाते हैं। रावण घायल हो जाता है। सारथी राम को बताते हैं कि रावण का वध करने के लिए ब्रम्हास्त्र का उपयोग कीजिए। रावण का अंत निकट आ गया है। राम रावण पर ब्रम्हास्त्र पर तीर चलाते हैं। और  रावण श्रीराम श्रीराम बोलेते बोलते रथ से जमीन पर गिर जाते हैं और उनकी मौत हो जाती है। सभी देवता खुश हो जाते हैं। भगवान श्री राम के जय जयकारे लग रहे हैं। लोगों  में  सीरियल रामायण को लेकर काफी कोतुहल और हर्ष है लोगों का कहना है कि अधर्म पर धर्म की जीत हुई है  भगवान श्री राम चंद्र जी ने असुर रावण का नाश करके उत्तम कार्य किया है अगर देश कोरोना जैसी महामारी से और लोक्डाउन का पालन न कर रहा होता तो आज पुरे  भारत वर्ष में आज दशहरा और दिवाली जैसा माहौल होता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *