रेवाड़ी में रूमाल बना शादी का कार्ड, दहेज में पौधे दिए गए गिफ्ट

रेवाड़ी में रूमाल बना शादी का कार्ड, दहेज में पौधे दिए गए गिफ्ट

रेवाड़ी(Bharat9): रेवाड़ी के एक एडवोकेट की महेंद्रगढ़ की पुलिसवाली से शादी कई गांवों में मिसाल बन गई है। दुल्हे ने पर्यावरण संरक्षण को लेकर कागज से बने कार्ड की जगह रूमाल पर शादी का निमंत्रण छपवाया। वहीं, पुलिसवाली दुल्हन के पिता ने सभी बरातियों को दहेज में 201 पौधे भेंट किए। इस शादी की खास बात यह भी रही कि इसमें दहेज के नाम पर बस एक रुपया व नारियल लिया गया। साथ ही यहां पटाखे फोड़ना व ड्रिंक करना भी अलाउड नहीं था। शादी के बाद नव दंपती ने 21 पौधे लगाकर नए जीवन की शुरुआत की।

जिला के गांव शहबाजपुर खालसा निवासी एडवोकेट परीक्षित यादव की शादी 23 नवंबर को महेन्द्रगढ़ के गांव चंदपुरा की रहने वाली अल्का यादव से हुई है। वह फिलहाल दिल्ली में पुलिस की नौकरी करती हैं। इस दहेज रहित शादी में मात्र नारियल और एक रुपये का शगुन लिया गया। शादी से पहले परीक्षित यादव ने कागज के शादी कार्ड के बजाय रूमाल पर शादी निमंत्रण छपवाकर रिश्तेदारों व दोस्तों को बांटे। रूमाल पर छपे इस निमंत्रण की खास बात यह है कि एक बार धोने के बाद इस रूमाल को यूज भी किया जा सकता है। इससे न केवल कागजों की बचत हुई, बल्कि शादी के कार्ड की तरह इधर-उधर भी ये नहीं पड़े रहेंगे।

परीक्षित ने बताया कि शादी में दोस्तों ने एक भी पटाखा नहीं फोड़ा। न ही किसी भी बराती को किसी प्रकार का नशा करने की अनुमति थी। स्टेज पर आशीर्वाद के दौरान सभी को पौधे देकर सम्मानित किया गया। उनके ससुर तेजप्रकाश यादव ने 201 पौधे भेंट स्वरूप वितरित किए। बरातियों ने ये सभी पौधे अपने-अपने घरों में लगाए हैं। शादी के बाद उन्होंने भी अपने नए जीवन की शुरुआत में 21 पौधे रोपित कर की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *