राजनीति से परेशान किसान , अब करेंगे ये बड़ा काम, जानिए किस-किस किसान ने किया एलान !

राजनीति से परेशान किसान , अब करेंगे ये बड़ा काम, जानिए किस-किस किसान ने किया एलान !

किसानों ने केंद्र और राज्य सरकार पर बोला हमला। 
तोशाम (अनुपम शर्मा) :-
हरियाणा के किसानों की समस्याए थमने का नाम नहीं ले रही.. आए दिन किसानों को किसी न किसी समस्या का सामना करना पड़ता है..  स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने किसानों की स्थिति  को लेकर केंद्र सरकार पर कड़ा प्रहार किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी की केंद्र की सरकार ने किसानों की जड़ें खोदने का काम किया है। उन्होंने कहा कि  किसान को आगे या तो  राजनीति किसान को नचाएगी या फिर किसान राजनीति का गिरेबान पकड़ेगा। किसानों से आह्वान करते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि किसान राजनीति की लगाम खुद अपने हाथ में ले,  किसी पार्टी या नेता के हाथ में न दे। अब  किसान के लिए काम करे वही हमारा नेता होगा। योगेंद्र यादव हाल ही में लाए गए तीन अध्यादेशों को वापस किए जाने की मांग को लेकर तोशाम में किसानों के प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे थे।

खरकड़ी माखवान से टमाटर उत्पादक रमेश पंघाल व राजकुमार के आयोजन में किसान ट्रेक्टरों के काफिले के साथ उपमंडल परिसर तोशाम पंहुचे और तहसीलदार अशोक कुमार को ज्ञापन सौंपा। योगेंद्र यादव खरकड़ी माखवान से ही ट्रेक्टर पर बैठकर काफिले के साथ तोशाम पंहुचे। इस दौरान किसानों को लेकर लाए गए अध्यादेशों की प्रतियां जलाई गई। योगेंद्र यादव ने कहा है कि अगर आज किसान ने संघर्ष नहीं किया तो आने वाली पीढ़ियां कोसेंगी। आने वाली पीढ़ियां कहेंगी कि खेती कंपनियों को जा रही थी तो तुम क्या कर रहे थे, इसलिए किसानों से मेरा आह्वान है कि अब संघर्ष के लिए आगे आएं अन्यथा भविष्य मैं हालात और भी खराब होंगे। उन्होंने कहा कि गत 70 सालों में  कोई भी सरकार किसान हितेषी नहीं रही। अब समय आ गया है की किसान को सर छोटू राम द्वारा कहे शब्दों ये  किसान तू दोस्त व दुश्मन की पहचान करना सीख ले पर अमल करना होगा।… इसलिए किसान को आज संघर्ष की आवश्यकता है, सरकार को मजबूर करना होगा कि जिस प्रकार 2014 में सरकार को भूमि अधिग्रहण वापस लेना पड़ा था उसी तरह ये तीन अध्यादेश भी वापस लेने होंगे। आज सरकार ने किसानों को बर्बाद करके रख दिया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *